Breaking News
  • बाढ़ और चक्रवात के खतरे में आने वाले ज़िलों में स्वंयसेवकों के प्रशिक्षण के लिए भी 'आपदा मित्र' नाम की पहल की गई है: पीएम
  • पीएम मोदी ने वैज्ञानिकों से आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की तकनीक को उपयोगी बनाने का आग्रह किया
  • विदेश सचिव विजय गोखले ने की चीन के वित्त मंत्री से मुलाकात, द्विपक्षीय एजेंडे पर हुई चर्चा
  • मन की बात कार्यक्रम के 41वें संस्करण में बोले पीएम मोदी
  • 54 साल की उम्र में बॉलीवुड एक्ट्रेस श्रीदेवी का निधन
  • भारत की Aruna Reddy ने मेलबर्न Gymnastics World Cup में कांस्य पदक जिता

चुनाव के बाद अपने सबसे बड़े वादे से पलट गए ट्रंप...

WASHINGTON:- नव-निर्वाचित अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने साफ कर दिया है कि वो ओबामा हेल्थ केयर एक्ट को निरस्त नहीं करेंगे।

यह फैसला बराक ओबामा से मुलाकात के बाद लिया गया है। राष्ट्रपति चुनाव जीतने से पहले अपने चुनावी भाषणों में ट्रंप ने लगातार ओबामा हेल्थ केयर एक्ट पर निशाना साधा था। उनका कहना था कि वो सत्ता में आते ही इसे रद्द करेंगे, क्योंकि इसमें खर्च होने वाले बजट से अर्थव्यवस्था चरमरा रही है।

ट्रंप ने वॉल स्ट्रीट जर्नल से कहा है, ओबामा हेल्थ केयर एक्ट कुछ संशोधनों के साथ बरकरार रहेगा। राष्ट्रपति ओबामा ने इसे लेकर विचार-विमर्श करने के लिए कहा था और अब हम इस पॉलिसी को निरस्त नहीं करेंगे। ट्रंप ने कहा, ओबामा के साथ हुई मुलाकात के दौरान हमने ओबामा हेल्थ केयर एक्ट को लेकर बातचीत की और उन्होंने मुझे इस पॉलिसी को रद्द नहीं करने को लेकर विचार करने के लिए कहा था।

ओबामा हेल्थ केयर एक्ट के तहत अमरीकी जनता का सस्ते में इलाज किया जाता है और उनको स्वास्थ्य बीमा दिया जाता है। डोनाल्ट ट्रंप के चुनाव जीतने के बाद इस स्वास्थ्य नीति कानून को लेकर लोगों में कई तरह की शंका पैदा हो गई थी। बुधवार को करीब एक लाख से ज्यादा लोगों ने इस सस्ती स्वास्थ्य बीमा योजना को खरीदा था।

सत्ता में आने के बाद अगर डोनाल्ड ट्रंप इस स्वास्थ्य देखभाल अधिनियम को निरस्त कर देते तो 2.2 करोड़ से ज्यादा लोगों को इस योजना के फायदे से वंचित होना पड़ता। 1 करोड़ से ज्यादा लोगों का स्वास्थ्य बीमा निरस्त हो जाता। 

loading...