Breaking News
  • दिवाली तक कम हो सकती हैं पेट्रोल-डीजल की कीमतें- सूत्र
  • रोहिंग्या और रखाइन में शांति की पूरी कोशिश की- म्यंमार की सर्वोच्च नेता आंग सान सू
  • गुरूग्राम: सुरक्षा कारणों से फिर से बंद हुआ रेयान स्कूल, अब 25 सितंबर को खुलेगा
  • संयुक्त राष्ट्र महासभा का 72वां सत्र मंगलवार से- शनिवार को विदेश मंत्री स्वराज का संबोधन

युद्ध का भूखा देश दुनिया के लिए बन रहा है चुनौती

प्योंगयांग: युद्ध की भीख मांग रहे उत्तर कोरिया ने एकबार फिर से अमेरिका को धमकाया है। उत्तर कोरिया ने अमेरिका द्वारा संयुक्त राष्ट्र से उसके खिलाफ लगाये जा प्रतिबंधो से उत्तर कोरिया आग बबूला हो गया है। उत्तर कोरिया ने कहा कि अगर अमेरिका ऐसे ही प्रतिबंध लगवाता रहा तो उसको इसकी बड़ी कीमत चुकानी होगी।

क्या उत्तर कोरिया और अमेरिका के बीच दुश्मनी की कीमत पूरी दुनिया को चुकानी होगी। यह सवाल इस लिए जरुरी है कि युद्ध करने का भूत सवार किये उत्तर कोरिया लगातार अमेरिका से खुलेआम पंगा ले रहा है। ऐसे में उत्तर कोरिया के साथ साथ देशों को भी नुकसान उठाना पड़ सकता है जो उसके साथ हैं। अब हाल ही में उत्तर कोरियाई मीडिया द्वारा छठे परमाणु परीक्षण के विरोध में संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में उसके खिलाफ नए प्रतिबंध लागू करने को लेकर अमेरिकी प्रस्ताव पर उत्तर कोरिया आग बबूला हो गया है।

क्या मुंबई के लोग 100 रुपये प्रति लीटर पेट्रोल भी ख़ुशी ख़ुशी ख़रीद सकते हैं

उत्तर कोरिया ने कहा है कि अमेरिका को को अपने इस कदम की भारी कीमत चुकानी होगी। उत्तर कोरियाई मीडिया ने विदेश मंत्रालय के हवाले से कहा है कि अगर अमेरिका द्वारा प्रस्तावित अवैध व गैर-कानूनी कड़े प्रतिबंधों के प्रस्ताव को मंजूरी मिलती है तो यह अमेरिका के लिए ठीक नहीं होगा। और अमेरिका को अपने इस कदम पर पछतावा होगा। उत्तर कोरिया ने अमेरिका को यह धमकी तब दी है जब अमेरिका द्वारा उत्तर कोरिया के छठवे हाइड्रोजन बम के परीक्षण किया है।

“नीतीश कुमार गर्भवती महिला और सुशील मोदी आशा कार्यकर्ता हैं”

ज्ञात हो कि ब्रिक्स समेलन से ठीक पहले उत्तर कोरिया ने भारी भरकम हाइड्रोजन बम का परीक्षण किया था। उत्तर कोरिया के इस कदम से अमेरिका ने उत्तर कोरिया को चेतावनी जारी की थी। साथ ही चीन को भी अमेरिका ने जमकर लताड़ा था।

यह भी देखें-

    

loading...