Breaking News
  • मोदी की बंपर जीत पर राहुल गांधी ने दी शुभकामनाएं
  • अमेठी सीट से हारे राहुल गांधी, वायनाड से मिली जीत
  • प्रियंका गांधी के साथ कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक में पहुंचे राहुल गांधी
  • राहुल गांधी के इस्तीफे पर सस्पेंस बरकरार
  • मां से आशीर्वाद लेने के लिए कल गुजरात जाएंगे मोदी
  • सूरत अग्निकांड में अब तक 21 की मौत, 3 के खिलाफ FIR दर्ज
  • चार धाम यात्रा: छह महिने के बाद खुले केदारनाथ धाम के कपाट, कल खुलेंगे बद्रीनाथ के कपाट
  • वो (ममता) अब मेरे लिए पत्थरों और थप्पड़ों की बात करती हैं: मोदी
  • पश्चिम बंगाल के बांकुरा में पीएम मोदी की चुनावी रैली, ममता पर बोला हमला
  • लोकसभा चुनाव 2019: NDA को प्रचंड बहुमत, 300 से अधिक सीटों पर बीजेपी की जीत
  • 24 मई: आज भंग हो सकती है 16वीं लोकसभा, पीएम मोदी की अध्यक्षता में केन्‍द्रीय मंत्रिमंडल की बैठक

अब नोट पर लिखा तो खैर नहीं: होगी जेल और पांच हजार का जुर्माना

काठमांडू: भारत में 'सोनम गुप्ता बेवफा है' लिखे वाले नोट भले ही धड़ल्ले चल रहे हो, लेकिन भारत के पडोसी मुल्क में अगर भूल से भी ऐसी गलती की तो आपको जुर्माने के साथ साथ जेल भी जाना पड़ सकता है।

बतादें कि भारत में लोग कॉपी पर भले ही काला अक्षर न लिखते हों लेकिन करेंसी पर 'सोनम गुप्ता बेवफा हैं' जरुर लिख डालते हैं। ऐसे लोगों को सचेत हो जाने की जरूरत है क्योंकि अगर यह गलती अपने भारत की सीमा से लगते देश नेपाल में की तो आपके लेने के देने पड़ सकते हैं। दरअसल नेपाल सरकार करेंसी यानी की नोटों साफ़ सुथरा और लम्बी अवधि तक चलाने लायक रखना चाहती है। साथ ही लोगों का उसके प्रति सम्मान भी बनाए रखना चाहती है। ऐसे में सरकार एक कानून ला रही है। जिसमें नोट पर लिखने, फाड़ने, जलाने और यहां तक कि लाइन खींचने को अपराध माना जाएगा। नेपाली मीडिया में जारी ख़बरों की माने तो क्रिमिनल प्रोसिजर कोड ऐक्ट 2007 के मुताबिक, देश के करेंसी नोट या सिक्के को नुकसान पहुंचाने पर तीन महीने तक जेल और 5000 नेपाली रुपये जुर्माना भी लग सकता है।

अलगाववादियों ने निशाने पर हैं यह नेता, जान से मारने की मिल रही धमकी

इतिहास में पहलीबार: राज्यसभा की कार्यवाही से हटाया गया पीएम मोदी का विवादित बयान

क़ानून लाने से पहले नेपाल राष्ट्र बैंक, सेंट्रल बैंक ने अपनी सभी बैंक शाखाओं को आदेश जारी किया है कि वह नए नियम को कठोरता से लागू करें। सेंट्रल बैंक ने एक आम जनता को भी इस बारे में सूचना दी है। एनआरबी के नोट प्रबंधन विभाग के प्रमुख लक्ष्मी प्रपान्ना निरौला ने कहा कि इस कानून के क्रियान्वयन से मुद्रा के जीवनकाल को बढ़ाने में मदद मिलेगी, जिससे एनआरबी को कुछ बचत होगी। दरअसल नेपाल में अभी 28 हजार करोड़ रुपये (458 अरब नेपाली रुपये) चलन में हैं। इसमें से 30 फीसदी नोट लाइन खींचने और उन पर लिखे जाने के कारण खराब हो गए हैं। जिससे एनआरबी को नुकसान हो रहा है।

यह भी देखें-   

 

loading...