Breaking News
  • मंदी से निपटने के लिए सरकार ने किए बड़े ऐलान, ऑटो सेक्टर को होगा उत्थान
  • तीन देशों की यात्रा के दूसरे चरण में यूएई की राजधानी आबू धाबी पहुंचे मोदी
  • देश भर में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की धूम, राष्ट्रपति कोविंद और पीएम मोदी ने दी शुभकामनाएं
  • 1st Test Day-2: भारत की पहली पारी 297 रनों पर सिमटी, रवींद्र जडेजा ने बनाए 58 रन

अमेरिकी राष्ट्रपति के बयान से टेंशन में मोदी सरकार, राहुल ने मांगा जवाब

नई दिल्ली: तो कहा पीएम मोदी ने देश का सीना गर्व से चौड़ कर दिया था, दुनिया के अलग-अलग हिस्सों में घुम-घुम कर पीएम मोदी जिस तरह से भारत की गौरवगाथा का गुणगान करते हैं, भारतवासियों का सीना गर्व से फूल जाता है, साल 2014 में सत्ता संभालने के बाद पीएम मोदी और उनकी सरकार की नीतियों के कारण पाकिस्तान सांस नहीं ले पा रहा है। आतंकवाद पर बेनकाब हो चुके पाकिस्तान को पूरी दुनिया लानते भेज रही है। लेकिन अमेरिकी राष्ट्रपति ने एक ऐसा बयान दिया जो पाकिस्तान के बेजान जिस्म में जान फूंक सकता है। क्योंकि मोदी अपने मित्र ट्रंप के कारण मोदी विपक्ष के रडार पर आ चुके हैं...

संसद से लेकर सड़क तक विपक्ष तिलमिलाया हुआ है, ये तिलमिलाहट भारत के अपमान पर है, प्रधान सेवक से मिले धोखे की है। ये तिलमिलाहट अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप के उस बयान पर है, जो पाकिस्तान को झूठा दिलासा दिला रहा है। भारत ने पहले ही साफ किया है कि फिलहाल पाकिस्तान से सिर्फ आतंकवाद पर बात होगी, इससे निपटने के बाद ही कुछ और। वहीं कश्मीर को लेकर भी भारत की नीतियां स्पष्ट है कि इसमें किसी भी तीसरे की दखलअंजादी पसंद नहीं, फिर वो अमेरिका या चीन न ही क्यों न हो।

अब पता नहीं कब मोदी ने ट्रंप से कश्मीर में दखलंदाजी की बात कर दी, जो विपक्ष को बिलकुल पसंद नहीं है। कांग्रेस की मानें तो हिंदुस्तान की सरकार ने अमेरिका के सामने सिर झुका दिया है।

सिर्फ अधिर रंजन चौधरी ही नहीं बल्कि जनता का विश्वास खो चुकी कांग्रेस पार्टी को बीच मझधार में छोड़ जिम्मेदारियों से पल्ला झाड़ लेने वाले राहुल  गांधी ने भी पीएम से जवाब की मांग की है। हालांकि सरकार की ओर से संसद के दोनों सदन नें विदेश मंत्री ने अमेरिका के दावों का खंडन किया है, लेकिन विपक्ष है कि मानने को तैयार नहीं।

आपको बता दें पाकिस्तानी पीएम इमरान खान अमेरिकी दौरे पर है, जहां खान ने ट्रंप से मुलाकात की है। इसी मुलाकात के क्रम में ट्रंप ने कश्मीर मसले पर बयान देकर भारत से बेहतर हो रहें रिश्ते को कलंकित करने का काम किया है। अमेरिकी राष्ट्रपति के इस अप्रत्याशित दावे ने भारत की सियासत में हलचल मचा दी है। इस बयान से अमेरिका और भारत के संबंधों में अचानक एक गहरा तनाव सा दिखने लगा है। लेकिन ट्रंप के इस दावे पर यकीन करना आसान नही है क्योंकि उन्होंने पहले भी कई तथ्हीन दावे किए हैं।

loading...