Breaking News
  • जम्‍मू-कश्‍मीर: कुपवाड़ा के तंगधार में आतंकियों से मुठभेड़ में एक जवान शहीद
  • प्लास्टिक से बने तिरंगे का इस्तेमाल न करें- गृह मंत्रालय ने जारी की एडवाइजरी
  • हम विकास की सोचते हैं चुनाव की नहीं: पीएम मोदी

सिंगापुर: किम को सता रहा था मौत का डर, अमेरिकी पेन को नहीं लगाया हाथ

सिंगापुर: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरिया के शासक किम जोंग उन के बीच अभी तक की रही खतरनाक दुश्मनी का पता तो पूरी दुनिया को है। दोनों ही के दुसरे को जड़ से खत्म करने की धमकी दे रहे थे, ऐसे में जब मंगलवार को सिंगापुर में दोनों की मुलाकात हुई तो यह डर वहां भी छाया रहा।

बतादें कि सिंगापुर में दोनों की मुलाकात के बड़ा कुछ नई नई और अचम्भित करने वाली जानकारियाँ निकलकर सामने आ रहीं हैं। बताया जा रहा है कि सिंगापुर में किम जोंग उन और डोनल्ड ट्रंप की मुलाकात पर भले ही पूरी दुनिया की नजर बनी हुई थी, और सुरक्षा के लिहाज से कोई चीटी भी नहीं दाखिल हो सकती थी। उसके बाद भी किम को अपनी सुरक्षा को लेकर बहुत ही चौकन्ना दिखाई दिया। मीडिया में जारी खबरों की माने तो सिंगापुर में मुलाक़ात के बाद समझौतों पर हस्ताक्षर के दौरान किम बहुत ज्यादा शंकित था।

बताया जा रहा है दोनों देशों के बीच रिश्तों को बेहतर बनाने के लिए समझौते पर हस्ताक्षर के दौरान एक ऐसी घटना घटी जिससे बाद इस बात का अंदाजा लगाया जा सकता है कि किम अपनी सुरक्षा को लेकर कितना सजग था। दरअसल समझौते पर हस्ताक्षर के समय दोनों नेताओं के सामने शार्पी पेन रखा गया। यह अमेरिकी अधिकारियों द्वारा दिया गया था।

'महागठबंधन' पर राहुल का बड़ा बयान, कौन होगा 2019 में इसका नेता?

बंगला तोड़फोड़ विवाद: टोंटी लेकर पहुंचे अखिलेश यादव, कहा करवा लो गिनती

लेकिन किम के पेन उठाने से पहले ही एक सिक्योरिटी गार्ड ने टेबल के पास आकर पेन को अच्छे से साफ किया। लेकिन उसके बाद भी किम ने उस पेन से हस्ताक्षर नहीं किये, जिसके बाद किम की सुरक्षा की जिम्मेदारी संभालने वाली किम की बहन ने पास आकार दूसरा पेन दिया। जिस पेन से किन ने हस्ताक्षर किये। इसके पीछे कारण किम को डर था कि उसे किसी भी हाल में मारने के लिए पेन में जहर को लगाकर रखा जा सकता है। जिसके कारण ही किम ने अमेरिकी अधिकारियों के द्वारा रखे गये पेन का इस्तेमाल नहीं किया।

यह भी देखें-

loading...