Breaking News
  • 1984 सिख दंगा मामला : कांग्रेसी नेता सज्जन कुमार दोषी करार
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भ्रष्टाचार मुक्त सरकार चल रही है: रक्षा मंत्री
  • राजस्थान : अशोक गहलोत मुख्यमंत्री और सचिन पायलट ने उप मुख्यमंत्री पद की शपथ ली
  • मालदीव के राष्ट्रपति इब्राहिम मोहम्मद सोलिह भारत दौरे पर
  • चक्रवाती तूफान Pethai Cyclone आज आंध्र प्रदेश के तट से टकराएगा

इजराइल: अमेरिका दूतावास खुलने के बाद भड़की हिंसा, 57 की मौत

यरुशलम: इजराइल के गाजा में एकबार फिर से जबरदस्त हिंसा भड़की हुई है। यहाँ के गाजा में सोमवार को भड़की हिंसा में 57 से ज्यादा लोगों की मौत हो गयी है। वहीँ सैकड़ों लोग घायल बताये जा रहे हैं। कहा गया है कि यह लोग गाजा में अमेरिका का दूतावास खुलने को लेकर प्रदर्शन कर रहे थे।

बतादें कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पिछले ही समय यरुशलम को इजराइल की राजधानी घोषित किया था। जिसके बाद से ही लगातार यहाँ प्रदर्शन हो रहा है। वहीं सोमवार को प्रदर्शन तब हिंसक हो गया है जब यहाँ की गाजा के पास अमेरिका का दूतावास खोलने की तैयारी की गयी। उससे पहले ही यहाँ हिंसा भड़क गयी। हिंसा को लेकर इजराइल की सेना इजराइल रक्षा बल (आईडीएफ) ने जानकारी देते हुए कहा है कि, यहाँ बड़ी मात्रा में प्रदर्शनकारी टेंट लगाकर जमा हो रह थे।

कर्नाटक से दूर यहां मिली कांग्रेस को बड़ी राहत, जेल जाने से बचा वरिष्ठ मंत्री

वहीं उनके द्वारा धीरे धीरे इजराइल रक्षा बलों पर हमला करना शुरू कर दिया गया है। आरोप है कि यह हिंसा और इजराइल रक्षा बलों पर हमला फिलिस्तीनी आतंकवादी समूह हमास ने किया है।कहा गया है कि इजराइल और फिलिस्तीन को विभाजित करती गाजा पट्टी पर 4000 से ज्यादा लोग जमा हुये हैं। जोकि पेट्रोल बम आदि से लैश होकर इजराइल रक्षा बल पर हमला कर रहे हैं। जिन्हें खदेड़ने के लिए सेना को आंसू गैस के गोले दागने पड़े।

रुझान: कर्नाटक से भी कांग्रेस हुई बेदखल, पूर्ण बहुमत के करीब बीजेपी

आगे इजराइल रक्षा बलों के प्रवक्ता की ओर से कहा गया है, 'प्रदर्शनकारियों ने सीमा पर स्थित इजराइली सैनिकों पर शराब की बोतलों में आग लगा कर फेंका, टायर जलाया और पत्थरबाजी की। जिसके बाद प्रदर्शन हिंसा में बदल गया है। जिसमें करीब 57 लोगों के मारे जाने की खबर है। वहीँ फिलीस्तीनी स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से भी ब्यान जारी कर कहा गया है कि, इजराइली सेना ने की कार्रवाई में 443 लोग घायल हुए हैं। वहीँ दर्जनों लोगों की जान चली गयी है।

यह भी देखें-

loading...