Breaking News
  • संसद का शीकालीन सत्र आज से शुरू, प्रधानमंत्री ने कहा चर्चा होनी चाहिए
  • 5 राज्यों मध्य प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़, तेलंगाना और मिज़ोरम में मतगणना

इस देश में मारे गए 1200 से अधिक लोग, भारत ने भेजी बड़ी मदद

नई दिल्ली: इंडोनेशिया में इन दिनों कुछ भी ठीक नहीं चल रहा है। पिछले दिनों भूकंप और सुनामी के चपेट में आकर 1200 से अधिक लोग मारे जा चुके हैं, जबकि मौत का आकड़ा हर दिन के साथ बढ़ता ही जा रहा है। आम जनजीवन पूरी तरह से तबाह गो चुका है। हालांकि राहत और बचाव कार्य जारी है लेकिन संसाधनों की कमी के कारण भारी फजीहत का सामना करना पड़ा रहा है।

इंडोनेशिया के गंभीर हालात को देखतो हुए भारत सरकार ने भी बड़ी राहत भेजी है। सरकार ने भूकंप और सुनामी पीड़ितों की मदद के लिए दो विमान और नौसेना के तीन पोत रवाना किए हैं। जानकारी के अनुसार, विमान और पोतों राहत सामग्री लदे हैं। ये जानकारी बुधवार को विदेश मंत्रालय ने एक बयान जारी कर दी है।

भारत में ‘आर्थिक सुनामी’, धड़ाम से गिरा शेयर बजार तो रुपया 75 के पास

मंत्रालय की ओर से जारी बयान के अनुसार, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और इंडोनेशियाई राष्ट्रपति जोको विडोडो के बीच एक अक्टूबर को फोन पर हुई बातचीत और इंडोनेशियाई सरकार द्वारा अंतरराष्ट्रीय सहायता स्वीकार किए जाने के बाद भारत ने ऑपरेशन ‘समुद्र मैत्री’ शुरू किया है। जिसके तहत वायुसेना के दो विमान बुधवार की सुबह मेडिकलस्टाफ और राहत सामग्री के साथ इंडोनेशिया के लिए रवाना हुआ।

वेस्टइंडीज के खिलाफ मैच शुरू होते ही भारत को लगा तगड़ा झटका

बताया जाता है कि जो विमान इंडोनेशिया के लिए भेजे गए उनमें सी-130 जे और सी-17 शामिल हैं। खबरों के अनुसार सी-130 जे विमान से तंबुओं और उपकरणों के साथ एक मेडिकल टीम भेजी गयी है। बताया जाता है कि इन उपकरणों की मदद से वहां पीड़ितों के लिए अस्थायी अस्पताल भी बनाए जा सकते हैं।

अनिल अंबानी को देश बाहर नहीं जाने दिया जाए, SC में याचिका

वहीं सी-17 विमान से तत्काल सहायता प्रदान करने के लिए दवाइयां, जेनरेटर, तंबू और पानी आदि सामग्री भेजी गई है। वहीं राहत और बचाव कार्य के लिए भेजे गए नौसेना के तीन पोतों में आईएनएस तीर, आईएनएस सुजाता और आईएनएस शार्दुल छह अक्टूबर तक इंडोनेशियाई द्वीप सुलावेसी पर पहुंचने वाली है।

loading...