Breaking News
  • MSG कंपनी के सीईओ सीपी अरोड़ा गिरफ्तार, हनीप्रीत को फरार करने का आरोप
  • नोटबंदी की बदौलत 2 लाख से ज्यादा फ़र्ज़ी कंपनियां हुई बंद: पीएम
  • राष्ट्रीय आयुर्वेद दिवस के अवसर पर अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्थान का लोकार्पण
  • स्पेन,पुर्तगाल में लगी आग से 35 लोग मारे गए, स्थिति अभी भी भयावह

‘मौत की सजा’ पर संयुक्त राष्ट्र के फैसले से राजी नहीं है भारत!

संयुक्त राष्ट्र : संयुक्त राष्ट्र द्वारा लाए गए मौत की सजा पर रोक से संबंधित एक प्रसताव को भारत ने इंनकार कर दिया। भारत के अनुसार यह किसी देश के अपने कानूनी तंत्र रखने के संप्रभु अधिकार के विपरीत है।

हालांकि भारत के मना करने के बाद भी इस संसोधन को पास करा लिया गया, क्योंकि इस प्रसताव के पक्ष में कुल 76 वोट पड़े तो विरोध में 72 देशों ने वोट किया जबकि 31 देश अनुपस्थित रहे।

देश ने घरेलू विधि व्यवस्था विकसित करने के संप्रभु अधिकार में अपना समर्थन दिया है। मामले को लेकर भारतीय प्रतिनिधि मयंक जोशी के ने बताया कि हर देश के पास अपनी कानूनी व्यवस्था को मान्यता देने का अधिकार है, इसी कारण इस संशोधन में मतदान नहीं किया है।

जबकि इस मामले पर भारतीय काउंसलर कहना है कि प्रस्ताव के खिलाफ मतदान किया है, क्योंकि यह भारत के वैधानिक कानून के विपरीत है।

 

loading...