Breaking News
  • मंदी से निपटने के लिए सरकार ने किए बड़े ऐलान, ऑटो सेक्टर को होगा उत्थान
  • तीन देशों की यात्रा के दूसरे चरण में यूएई की राजधानी आबू धाबी पहुंचे मोदी
  • देश भर में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की धूम, राष्ट्रपति कोविंद और पीएम मोदी ने दी शुभकामनाएं
  • 1st Test Day-2: भारत की पहली पारी 297 रनों पर सिमटी, रवींद्र जडेजा ने बनाए 58 रन

भारतीय वायुसेना का दावा, झूठ बोल रही है अमेरिकी मीडिया

नई दिल्ली: भारतीय वायुसेना ने अमेरिकी मीडिया की उस रिपोर्ट को खारिज कर दिया, जिसमें कहा जा रहा था कि पाकिस्तान का एक भी एफ-16 विमान गायब नहीं है। इंडिय एयफोर्स की माने तो 27 फरवरी को सीमा पर पाकिस्तान के साथ हुए संघर्ष में उसके एफ-16 विमान को मार गिराया है, और इसके पुख्ते सबूत भी हैं।

पुलवामा हमले के बाद पाकिस्तान के बालाकोट में आतंकी ठिकानों पर किए गए एयर स्ट्राइक के अगले ही दिन पाकिस्तानी विमान एफ-16 ने जम्मू-कश्मीर में सैन्य ठिकानों पर हमले की कोशिश की थी, लेकिन भारतीय विमान मिग-21 ने पाकिस्‍तानी के नापाक इरादे को धूल में मिला दिया और उसका एक विमान भी मार गिराया।

हालांकि पहले पाकिस्तान, भारत के खिलाफ ए-16 के इस्तेमाल की बात से मुंह मोड़ रहा था लेकिन बवाल बढ़ने के बाद पाकिस्तान ने माना कि हमने आत्मरक्षा के लिए इस्तेमाल किया भी तो इसमें गलत क्या है। इस बीच अमेरिकी मीडिया ने अधिकारियों के हवाले से दावा किया किया था कि पड़ताल में पाकिस्तान के पास उसके सभी ए-16 विमान अब भी मौजूद हैं।

वायुसेना के सूत्रों के हवाले से कहा जा रहा है कि, विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान ने पाकिस्‍तानी वायुसेना के एफ-16 विमान को पाकिस्तान अधिकृत कश्‍मीर में करीब 7 से 8 किलोमीटर अंदर मार गिराया था। दावा किया जा रहा है,पाकिस्‍तानी वायुसेना के लिए रेडिया कम्‍यूनिकेशन को इंटरसेप्‍ट किया गया था, जिसके अनुसार 27 फरवरी को जिन एफ-16 विमानों ने भारत पर हमला किया था उनमें से एक उनके बेस पर नहीं लौटा।

भारतीय सेना के अनुसार, उस दिन दो अलग-अलग जगहों पर इजेक्‍शन देखे गए थे और इन दोनों जगहों के बीच करीब 8 से 10 किलोमीटर की दूरी थी। इलेक्‍ट्रॉनिक सिग्‍नेचर के अनुसार उनमें से एक भारतीय वायुसेना का मिग-21 बाइसन था जबकि दूसरा पाकिस्‍तानी वायुसेना का एफ-16 विमान था।

loading...