Breaking News
  • सोनभद्र जाने पर अड़ी प्रियंका गांधी, धरने का दूसरा दिन
  • असम और बिहार में बाढ़ से 150 लोगों की गई जान, 1 करोड़ से अधिक लोग प्रभावित
  • इलाहाबाद हाइकोर्ट ने पीएम मोदी को जारी किया नोटिस, 21 अगस्त को सुनवाई
  • कर्नाटक पर फैसले के लिए अब सोमवार का इंतजार

अमेरिका और ईरान के बीच तल्खियों पर क्या मिलेगा भारत को राहत बड़ी खबर, किस शर्त पर अड़ा...

नोएडा : अमेरिका और ईरान के तल्खियों के बीच भारत के व्यापार में भी काफी उतार चढ़ाव हो रहे है। जिससे भारत के सामने असमंजस की स्थिति उत्पन्न हो गई है। भारत जहां अमेरिका को मनाने में लगा हुआ हैं कि वह उसके शर्तों को माने, वहीं अमेरिका भारत को अपने शर्त के सामने झुकाना चाह रहा है। आपको बता दें कि अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो 26 जून को पीएम मोदी और एस जयशंकर से मुलाकात करेंगे, जिस दौरान उन सभी मुद्दों पर वार्ता होने की संभावना है, जिस पर अमेरिका और भारत एक दूसरे को मनाने में लगे हुए है।

क्या चाहता है भारत ?  

अमेरिका H-1 वीज़ा को लेकर लगातार अपने नियमों में बदलाव कर रहा है, इससे भारत पर काफी असर पड़ रहा है। भारत की इच्छा है कि अमेरिका अपने इस नियम में बदलाव करें, जिससे अमेरिका में रहने वाले भारतीय पर असर न पड़े।

ईरान और चीन के साथ तल्खियों के बीच अमेरिका में ट्रेड वार छिड़ चुका है, जिससे इस समय अमेरिका कई आर्थिक संकटों से जूझ रहा है। ऐसे में भारत की मांग है कि इस ट्रेड वॉर का उसपर कोई असर ना पड़े और मिलने वाली रियायतों को ना रोका जाए। अमेरिका भारत पर ईरान से तेल न लेने का दबाव बना रहा है। जिससे वह ईरान पर अपनी पकड़ को मजबूत बना सकें।

भारत शुरू से ही पाकिस्तान को आतंकवाद के मुद्दें पर घेर रहा हैं, जो भारत के प्रमुख एजेंडों में से एक है। भारत की मांग है कि अमेरिका पाकिस्तान पर सख्ती बरते।

भारत द्वारा रूस से 5 बिलियन अरब डॉलर की लागत से मिसाइल हमलों से रक्षा देने वाले कवच खरीद से अमेरिका नाराज है, वह चाहता हैं कि भारत रूस से ये तकनीक नहीं खरीदें।

आर्थिक विश्लेषकों की मानें तो भारत इस सौदे से किसी भी हालत में पीछे नहीं हटने वाला है, जबकि अमेरिका भारत पर Countering American Adversaries Through Sanctions Act (CAATSA) के तहत प्रतिबंध लगाने की धमकी दे चुका है।

किन बातों पर अड़ा है अमेरिका

अमेरिका की इच्छा है कि भारत ईरान से तेल ना खरीदे। अगर भारत ईरान से तेल खरीदता हैं तो अमेरिका भारत पर प्रतिबंध लगा सकता है। आपको बता दें कि ईरान और अमेरिका में इन दिनों काफी ठनी हुई है।

भारत अपने करीबी दोस्त रूस से S-400 मिसाइल सिस्टम खरीदना चाहता है लेकिन अमेरिका चाहता है कि भारत रूस से ये हथियार ना खरीदकर अमेरिका से ही खरीदे।

ट्रेड वॉर के बीच अमेरिका की मांग है कि भारत उसके उत्पादक पर टैक्स की दरों में छूट दे। ताकि अमेरिकी कंपनियों को समस्या ना आए।

अमेरिका की इच्छा ये भी है कि भारत में उनके देश की सोशल मीडिया/इंटरनेट से जुड़ी कंपनियों को लाइसेंस लेना पड़ता है, इस मांग को दूर किया जाए।

loading...