Breaking News
  • नहाय खाय के साथ प्रकृति और सूर्य की उपासना का पर्व छठ पूजा शुरू
  • लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे पर आज वायु सेना का पहला अभ्यास
  • चीन की कम्युनिस्ट पार्टी ने राष्ट्रपति XiJinping के अगले पांच सालों के कार्यकाल को सहमति दी
  • आज पूरा विश्व मना रहा है United Nations Day, प्रथम विश्वयुद्ध के बाद 1929 में हुआ था गठन

दुनिया के टॉप 10 आतंकी संगठनों का इतिहास- कोई करता है मदद तो कोई है जान का दुश्मन

नई दिल्ली: मौजूदा समय में आतंकवाद से पूरी दुनिया प्रभावितै है, लेकिन इससे इतर एक और सच्चाई है कि आज के दिनों में आतंकवाद व्यापार की तरह आगे बढ़ता ही जा रहा है। वैसे तो दुनिया में कई तरह के छोटे बड़े आतंकी संगठन है, लेकिन आज आपके सामने दुनाया के 10 प्रमुख आतंकवादी संगठनों के लेकर कुछ अहम जानकारी दे रहे हैं।

इस्लामिक स्टेट (ISIS)- आतंक के दुनिया का सबसे बड़ा डंक है यह आतंकी संगठन, कहा जाता है कि इस संगठन की पहुंच लगभग पुरी दुनिया में है। इस आतंकी संगठन ने उत्तरी इराक और पश्चिमी सीरिया पर कब्जा कर अपनी सरकार बना ली, लेकिन हाल के दिनों में इस पर सबसे बड़ा चोट किया गया है। इस संगठन का प्रमुख अबु बक्र अलबगदादी कई बार मारा जा चुका है, लेकिन वह बार-बार जिंदा हो उठता है, लेकिन हाल ही में मोसूल में आतंकियों के खिलाफ की गई सेना की कार्रवाई में बगदादी के फिर से मारे जाने की बात की गई है। बताया जाता है कि इस संगठन में सबसे ज्यादा ब्रिटिश मुस्लिम शामिल है।

बोको हराम- यह संगठन नाइजीरिया का एक आतंकी संगठन है जो अपनी बर्बरता के लिए पुरी दुनिया में मशहूर है। यह संगठन उस वक्त दुनिया की नजरों में आया जब इसने नाइजीरिया के एक स्कूल से 250 छात्राओं को अगवा कर लिया। बोको हरम का अंग्रेजी अर्थ 'पश्चिमी शिक्षा पाप है' बताया जाता है।

अलकायदा- इस आतंकी संगठन को दुनिया के अन्य आतंकी संगठनों में सबसे बड़ा ब्रांड माना जाता है। इसकी स्थापना 1989 में ओसामा बिन लादेन ने की थी। ओसामा के नेतृत्व में ही अलकायदा ने अमेरिका में 9/11 हमला किया। यहीं नहीं इसके बाद अफगान युद्ध की शुरूआत हुई जो मई 2012 में लादेन की मौत के साथ समाप्त हुआ। मौजूदा समय में यह संगठन अल-जवाहरी के नेतृत्व में अपना पाव पसार रहा है।

तालिबान- इस पश्तो शब्द का मतलब है छात्र, इस आतंकी संगठन में उन चुनिंदा आतंकी की भर्ती की जाती है, जिसने किसी न किसी देश पर राज किया हो। इस संगठन ने 1996 से 2001 अफगानिस्तान की सत्ता भी संभाल है। इसकी स्थापना मुल्ला मोहम्मद उमर ने किया था। इस संगठन को अलकायदा का भी समर्थन होता है।

रिवोल्यूशनरी आर्म्ड फोर्सेस ऑफ कोलंबिया- इस मार्क्सवादी-लेनिनवादी आतंकवादी संगठन को FARC  के नाम से जाना जाता है। यह दुनिया भर में ड्रग्स कारोबार के लिए जाना जाता है। इसके अलावा लैटिन अमेरिकी देश में आतंकवादी गतिविधियों को भी अंजाम देता है। इसकी स्थापना 1964 में की गई थी। आपको बता दें कि यह संगठन बड़ी-बड़ी कंपनियों से फिरौती वसूलती है जिसे गरीब लोगों की मदद के लिए इस्तेमाल में लाया जाता है।

तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान- इस आतंकी संगठन का ठिकाना पाकिस्तान-अफगानिस्तान सीमा पर मौजूद आदिवासी क्षेत्र में है। यह संगठन का निर्माण कई इस्लामिक आतंकी संगठनों को मिलकर किया गया है। इसकी स्थापना पाकिस्तानी आतंकवादी बैतुल्ला महसूद ने किया था। महसूद की मौत 23 अगस्त, 2009 में हुआ था।

अल नुस्रा फ्रन्ट- इसका मतलब होता है जमात अल नुस्रा, अरबी भाषा में इसे 'अल-शाम के लोगों के समर्थन में मोर्चा' के नाम से जाना जाता है।  यह संगठन सीरिया और लेबनान में अल-कायदा के ब्रांच की तरह काम कर रहा है, जिसका प्रमुख अबु मौहम्मद अल जुलानी था, जो सीरियाई विद्रोहियों का मजबूत समर्थक होने के नाते बशर अल-असद शासन के खिलाफ सीरियाई नागरिक युद्ध में शामिल हुआ था। बताया जाता है कि यह संगठन सीरिया में 'एक सबसे प्रभावशाली विद्रोही बल' था, लेकिन इसे संयुक्त राष्ट्र, ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, न्यूजीलैंड, सऊदी अरब के साथ अन्य कई देशों में आतंकवादी संगठन घोषित किया जा चुका है।

हिजबुल्लाह- यह संगठन ईरान और सीरिया समर्थित लेबनानी आतंकवादी संगठन है जो 1982 के लेबनानी गृह युद्ध के बाद उभर कर सामने आया। इस संगठन को इसराइल और सुन्नी अरब देशों का सबसे बड़ा दुश्मन माना जाता है।

हमास- इस शब्द का मतलब होता है 'हरकत उल मुकवामा अल इस्लामिया',  यह फिलिस्तीन का सामाजिक-राजनीतिक आतंकवादी संगठन है, जो मुस्लिम ब्रदरहुड की एक शाखा के तौर पर 1987 में स्थापित किया गया। इस संगठन का जिहाद इसराइल के खिलाफ है, और इसका मकसद इजराइल से फिलिस्तीन की आजादी को सुरक्षित रखना है।

कुर्दिस्तान वर्कर्स पार्टी (पीकेके)- इस संगठन को पीकेके नाम से जाना जाता है। जिसका गठन 27 नवम्बर 1978 को तुर्की में किया गया, और फिर इसने स्वतंत्र कुर्द राज्य के लिए अपनी लड़ाई शुरू कर दी। अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी संगठन के तौर पर नामित यह संगठन तुर्की, ईरान, सीरिया और इराक में सक्रीय है।

loading...