Breaking News
  • दिवाली तक कम हो सकती हैं पेट्रोल-डीजल की कीमतें- सूत्र
  • रोहिंग्या और रखाइन में शांति की पूरी कोशिश की- म्यंमार की सर्वोच्च नेता आंग सान सू
  • गुरूग्राम: सुरक्षा कारणों से फिर से बंद हुआ रेयान स्कूल, अब 25 सितंबर को खुलेगा
  • संयुक्त राष्ट्र महासभा का 72वां सत्र मंगलवार से- शनिवार को विदेश मंत्री स्वराज का संबोधन

पाकिस्तान पर टूटा भगवान का कहर, मांग रहा दया की भीख

ISLAMABAD:- पाकिस्तान में जून में मानसून सीजन शुरू होने के बाद से भारी बारिश के कारण लगभग 164 लोगों की मौत हो गई और 165 से अधिक लोग घायल हो गए।

राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एनडीएमए) ने बुधवार रात जारी एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा कि मानसून के सक्रिय होने के बाद से सिंध और पंजाब प्रांत इससे सर्वाधिक प्रभावित हुए हैं। इस प्रांतों में 38 लोगों की मौत हुई।

मूसलाधार बारिश से हजारों लोग बेघर हो गए।

एनडीएमए और प्रांतीय सरकार की टीमें प्रभावित क्षेत्रों में राहत एवं बचाव अभियान चला रही हैं।

एनडीएमए ने कहा कि उन्होंने अभी तक विस्थापित हुए लोगों को 873 टेंट, 1,150 खाने की थैलियां उपलब्ध कराई हैं। विभाग ने 590 कंबल और 1,400 स्लीपिंग बैग्स भी वितरित किए हैं।

कराची में बाढ़ में फंसे हुए लोगों को बाहर निकालने के लिए तीन नावें भी भेजी गई हैं।

एनडीएमए ने कहा कि अगले 24 घंटों में पंजाब और सिंध में अधिक बारिश की संभावना है, लेकिन बाढ़ की स्थिति नियंत्रण में है क्योंकि देश की सभी नदियों सामान्य स्तरों पर बह रही हैं।

loading...