Breaking News
  • नये ट्रैफिक नियमों में बढ़े हुए जुर्माने के खिलाफ हड़ताल पर ट्रांसपोर्टर्स
  • यूनाइटेड फ्रंट ऑफ ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन ने किया है हड़ताल का आहवाहन
  • महाराष्ट्र दौरे पर पीएम मोदी, नासिक से करेंगे चुनाव प्रचार अभियान का आगाज
  • साउथ अफ्रीका के खिलाफ दूसरे टी20 मैच में 7 विकेट से जीता भारत

बाज नहीं आ रहा बाजवा, कर दी एक और बड़ी गलती!

नई दिल्ली: जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 का अस्तित्व अतीत होने के बाद से बैखलाए पाकिस्तान की बौखलाहट खत्म होती नहीं दिख रही है। भारत और पाकिस्तान के रिश्तों में आई तल्खी के बीच बयानबाजियों का दौर भी जारी है। पाकिस्तानी प्रधान इमरान खान और उनके मंत्रियों की युद्ध की धमकियों के बीच अब पाकिस्तानी सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा ने भी युद्ध का राग अलापा है।

शुक्रवार को रावलपिंडी स्थित सेना के मुख्यालय में आयोजित एक कार्यक्रम में बाजवा ने कहा कि कश्मीर हिंदुत्व मानने वालों के अत्याचार का विषय है। हम अंतिम दम तक लड़ेंगे। हैरानी की बात तो यह है कि दुनिया भर में आतंकी देश के तौर पर मशहूर पाकिस्तान के सेना प्रमुख ने कहा कि युद्ध हो या आतंकवाद के खिलाफ अभियान, हमारे सैनिकों ने सन 1947 से ही मातृभूमि की रक्षा के लिए शहादत दी है।

पाक सेनाध्यक्ष जनरल  बाजवा ने कहा कि हमारी शहादत व्यर्थ नहीं जाएगी। हमने पिछले कुछ वर्षों में आतंकवाद से लड़ते हुए अपनी जो शहादत दी है, वह दुनिया के लिए उदाहरण है। उन्होंने कहा कि हमने आज शांति का संदेश दिया है। हमारा त्याग असीमित है, यह पूरी दुनिया और क्षेत्र के लिए संदेश है। लेकिन पाकिस्तानी सेना प्रमुख के इस बयान की भारत में कड़ी आलोचना की जा रही है।

loading...