Breaking News
  • महिला विश्व कप: शुरुआती मुकाबले में भारतीय टीम ने इंग्लैंड को 35 रनों से हराया
  • राष्ट्रपति चुनाव में समर्थन के लिए देशभर के दौरे पर निकलेंगे एनडीए उम्मीदवार रामनाथ कोविंद
  • कतर में भारतीयों की सुरक्षा के लिये हरसंभव प्रयास करेगी सरकार- विदेश मंत्री
  • #HWL2017: भारत ने पाकिस्तान को 6-1 से हराया
  • तीन देशों की यात्रा के दूसरे चरण में अमेरिका की राजधानी वाशिंगटन डीसी पहुंचे पीएम

क्यूबा के क्रांतिकारी नेता और राष्ट्रपति के साथ प्रधानमंत्री रहे फिदेल कास्त्रो का निधन।


नई दिल्ली: क्यूबा के पूर्व राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री फिदेल कास्त्रो  का निधन शनिवार को 90 साल के उम्र में हो गया। इसकी पुष्टि फिदेल के भाई और क्यूबा के वर्तमान राष्ट्रपति राउल कास्त्रो ने की है।

फिदेल कास्त्रो  ने 2008 में क्यूबा के राष्ट्रपति को अपनी मर्जी से त्याग कर दिया था, लेकिन वह क्यूबा कम्युनिस्ट पार्टी के महासचिव पद पर अब भी बने हुए थे।

क्रांतिकारी नेता कास्त्रो  उन्होंने ने 1959 से दिसंबर 1976 तक प्रधानमंत्री का पद् संभाला और फिर राज्य परिषद के अध्यक्ष यानी की राष्ट्रपति के पद पर कायम हुए।

कास्त्रो के नेतृत्व में मोंकाडा बैरकों पर 1953 में हमला किया गया, लेकिन यह हमला असफल रहा और वह गिरफ्तार कर लिए गए। जिसके बाद उन पर मुकदमा चला और उन्हें जेल भी जाना पड़ा, हालांकि बाद में वह रिहा कर दिए गए।

क्यूबा में कास्त्रो के नेतृत्व में फुल्गेंकियो बतिस्ता की तानाशाही सत्ता को खदेड़ कर वह क्यूबा के प्रधानमंत्री बने और राष्ट्रपति के अलावा वह सशस्त्र बलों के कमांडर इन चीफ का पद भी संभाल चुके है।

वह अपने आप को तानाशाही आलोचक रुप में मानते है, लेकिन दुनिया भर में वह एक तानाशाह के रूप में ही जाने जाते है।

loading...