Breaking News
  • चार धाम यात्रा: छह महिने के बाद खुले केदारनाथ धाम के कपाट, कल खुलेंगे बद्रीनाथ के कपाट
  • वो (ममता) अब मेरे लिए पत्थरों और थप्पड़ों की बात करती हैं: मोदी
  • पश्चिम बंगाल के बांकुरा में पीएम मोदी की चुनावी रैली, ममता पर बोला हमला
  • लोकसभा चुनाव में 200 सीटों के अंदर सिमट जाएगी एनडीए: चंद्रबाबू नायडू
  • पश्चिम बंगाल में वोटिंग के दौरान हिंसा, दमदम में रो पड़े मतदान अधिकारी
  • गोडसे विवाद पर नीतीश, साध्वी प्रज्ञा का बयान बर्दाश्त से बाहर, पार्टी से निकाला जाए
  • लोकसभा चुनाव: सातवें व अंतिन चरण में 8 राज्यों की 59 सीटों पर वोटिंग

ट्रंप-किम: 60 सालों की दुश्मनी पर भारी पड़ी 45 मिनट की मुलाकात!

सिंगापुर: सिंगापुर में का एक ऐतिहासिक मुलाकात पर पूरी दुनिया की नजर बनी हुई है। मंगलवार को यहाँ के सैन्टोसा होटल में अमेरिकी राष्ट्रपति और उत्तर कोरियाई शासक के बीच अविश्वनीय द्विपक्षीय मुलाकात हुई हुई।

बतादें कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरिया के शासक किम जोंग उन के बीच पहली मुलाकात संपन्न हुई है। इतिहास के पन्नों को खंगाला जाए तो अमेरिका और उत्तर कोरिया के बीच दुसरे विश्व युद्ध के बाद से कभी भी संबंध अच्छे नहीं रहे हैं। 1950-1953 के युद्ध के दौरान से ही दोनों देश एक दुसरे के कट्टर दुश्मन बन गये थे।

लेकिन इतने लम्बे समय के बाद आखिरकार अमेरिका और उत्तर कोरिया के प्रमुख नेतओं के बीच मुलाकात हुई। यह मुलाकात ही नहीं इसे सफल मुलाकात कहा जा सकता है। जब मंगलवार सुबह भारी सुरक्षा व्यवस्था के बीच अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरिया के शासक किम जोंग उन के बीच मुलाकात हो रही थी तो पूरी दुनिया पर इसकी नजरें बनी हुईं थी। मीडिया की खबरों की माने तो दोनों नेताओं ने करीब 12 सेकेंड तक एक दुसरे का हाथ थामे रखा। जिसके बाद दोनों के बीच करीब 45 मिनट तक द्विपक्षीय वार्ता हुई।

किन मुद्दों पर हुई मुलाक़ात

अमेरिका और उत्तर कोरिया के बीच सबसे बड़ा विवाद उत्तर कोरिया का परमाणु कार्यक्रम है। बाकी कोई भी गहरा विवाद नहीं है। ऐसे में कयास लगाए जा रहे हैं कि दोनों के बीच परमाणु निष्क्रियकरण को लेकर वार्ता हुई है सतह ही आपसी रिश्तों को बेहतर बनाने और अच्छे संबंध बनाने को लेकर चर्चा हुई है।

क्या कुछ कहा दोनों नेताओं ने     

45 मिनट की ऐतिहासिक मुलाकात के बाद दोनों नेताओं ने बयान जारी किया है। मुलाकात के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ने कहा, ‘मुझे बहुत अच्छा लग रहा है। यह बेहतरीन चर्चा होगी और मुझे लगता है कि यह सफल रहेगी। यह बहुत सफल होगी और हमारे बीच संबंध बेहतरीन होंगे, इसमें कोई संदेह नहीं है।’ वहीँ उत्तर कोरिया के शासक किम जोंग उन ने मुलाकात के बाद मीडिया को दिए सामूहिक साक्षात्कार में कहा कि, पुरानी धारणाएं हमारे मार्ग में बाधा बनी लेकिन हमने इन बाधाओं को पार कर लिया है और आज हम यहां मौजूद हैं।’ मुलाकात के वक्त दोनों देशों के बड़े नेता और सहयोगी भी साथ रहे। अमेरिका और उत्तर कोरिया के नेतओं की इस मुलाकात को शांति की राह में बड़ा कदम माना जा रहा है।

यह भी देखें-

loading...