Breaking News
  • राजस्थान: अमित शाह का ऐलान, वसुंधरा राजे होंगी सीएम उम्मीदवार
  • GST काउंसिल ने घटाई दरें, 100 से ज्यादा सामान होंगे सस्ते, सैनिट्री नैपकिन अब टैक्स फ्री
  • दक्षिण कश्मीर के कुलगाम जिले में 3 आतंकी ढेर, मुठभेड़ की जगह से हाथियार बरामद

इजरायली जासूस को इस देश ने सरेआम दिया था फांसी, 50 साल बाद मिली आखिरी निशानी!

नई दिल्ली: इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने भी पुष्टि की है कि उनके जासूस एली कोहेन की 50 साल पुरानी घड़ी खोज ली गई है। एली कोहेन मशहूर इजरायली जासूस थे जिनकी हत्या सीरिया में सरेआम फांसी पर लटका कर की गई थी। बताया जाता है कि कोहेन की घड़ी इजरायल की खुफिया एजेंसी मोसाद ने ढूंढा है।

आपको बता दें कि मशहूर इजरायली जासूस एली कोहेन ने सीरिया में रहकर अरब देशों के खिलाफ महत्वपूर्ण सूचनाएं जुटाए थे, जिनकी मदद से इजरायल-अरब युद्ध में कोहेन द्वारा जुटायी गई सूचनाओं के आधार पर इजरायल ने अपनी जीत पक्की की थी। हालांकि इस बीच एली कोहेन को सिरिया में गिरफ्तार कर लिया गया।

लालू के बड़े लाल ने सरेआम धमकाया, बयान सुनकर खौफ खा सकते है मीडिया वाले!

इस दौरान साल 1967 में एली कोहेन को सीरिया में खुले आम फांसी दी गई थी। हालांकि कोहेन की फांसी टालने के लिए इजरायल ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अभियान चलाया, लेकिन इसके बाद भी कोहेन की फांसी रूक नहीं सकी। बताया जाता है कि इजरायल की खुफिया एजेंसी मोसाद ने कोहेन की मौत के करीब 50 साल बाद घड़ी को खोल निकाला है।

प्रधानमंत्री पर है छेड़छाड़ का आरोप, जाने क्या है पूरी सच्चाई

इस सफलता के बाद देश के प्रधानमंत्री नेतन्याहू ने कहा कि, मैं मोसाद के लड़ाकों के इस अभियान की प्रशंसा करता हूं, जिन्होंने अपने महान जासूस की निशानी देश को वापस सौंप दिया। उन्होंने कहा कि इनका एक मात्र मकसद था अपने जारूस की घड़ी खोज निकालना, जिन्होंने देश को सुरक्षित बनाए रखने में अहम योगदान दिया था।

बताया जाता है कि मोसाद के जासूसों ने इस घड़ को सीरिया में चलाए गए एक विशेष अभियान के तहत खोजा है। लेकिन फिलहाल इस संबंध में कोई जानकारी नहीं दी गई है कि ये घड़ी कहा से औक किस हलत में मिली है। जानकारी के अनुसार एली कोहेन के इस निशानी को उनके परिजनों के हवाले किया जाएगा।

इसे भी देेखें: सरेआम युवक और पुलिस को छत से नीचे फेंका

loading...