Breaking News
  • देश के कई राज्यों में बाढ़ का कहर, सेना और एनडीआरएफ की टीमें बचावा कार्य में जुटी हैं
  • बिहार: रात भर चला ड्रामा, तेजस्वी बोले- ‘हमें मिले सरकार बनाने का मौका, ये तानाशाही है’
  • बिहार: महागठबंध से अलग हुए नीतीश- BJP के साथ बनाई नई सरकार, शपथ ग्रहण आज
  • रामेश्वरम में डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम मेमोरियल का उद्घाटन- पीएम मोदी की मौजूदगी में

जब मलेनिया को रुकवानी पड़ी पुतिन-ट्रंप की मुलाकात?


हैम्बर्ग: G-20 के शिखर सम्मलेन के दौरान अजीबोगरीब वाक्या देखने को मिला, यहाँ G-20 में भाग लेने आये अमेरिकी राष्ट्रपति और रुसी राष्ट्रपति की मुलाकात से समय अमेरिकी राष्ट्रपति की पत्नी मलेनिया को उनकी मीटिंग में दखल देना पड़ा, हालाँकि वह इसमें कामयाब नहीं रही।

बतादें कि जर्मनी के हैम्बर्ग में जी 20 समिट शिखर सम्मलेन हो रहा है। शुक्रवार को शिखर सम्मलेन का पहला दिन था। यहाँ हिस्सा लेने पहुंचे अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और रूस के राष्ट्रपति व्लागिमीर पुतिन के बीच शुक्रवार को पहली मुलाकात हुई। दोनों देशों के प्रमुख नेताओं की मुलाक़ात के बीच मलेनिया को हस्तक्षेप करना पड़ा।

क्या है पूरा मामला

G-20 देशों के शिखर सम्मलेन में हिस्सा लेने पहुंचे अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और रुसी राष्ट्रपति व्लाद्मिर पुतिन के बीच पहली और बड़ी मुलाकात हुयी। दोनों नेताओं के बीच तय समय से ज्यादा देर तक कई मुद्दों पर बातचीत होती रही। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार दोनों के बीच बैठक इतनी लंबी चली कि ट्रंप की पत्नी मेलानिया को इसमें दखल देना पडा। दोनों नेताओं ने इस दौरान कई अहम् मुद्दों पर चर्चा की। चर्चा के दौरान दोनों नेताओं ने समय का कोई ध्यान ही नहीं दिया।

जिसके चलते मीटिंग तय समय से घंटों आगे निकल गयी, वहीं मेलानिया ट्रंप मीटिंग को खत्म करने के की कोशिश कर रही थीं। दोनों नेताओं के बीच दो घंटे से भी ज्यादा देर तक से चली आ रही चर्चा को ख़त्म करने के लिए खुद मलेनिया को आगे आना पड़ा। हालाँकि वह इसमें सफल नहीं हो पायी। मलेनिया के हस्तक्षेप के बाद भी दोनों नेताओं के बीच मुलाकात चलती रही।

आतंकी की बरसी पर घाटी में तनाव, हजारों सुरक्षाबलों की मौजूदगी में जारी है अमरनाथ यात्रा​

पुतिन-ट्रंप की मुलाक़ात को लेकर अमेरिका के विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन ने कहा राष्ट्रपति ट्रंप और पुतिन की इतनी अच्छी कैमेस्ट्री थी, जिसके चलते दोनों नेताओं ने समय के बंधन को खत्मकर लगातार मुलाकात जारी रखी। यह एक अच्छी बात है कि दोनों नेता एक दुसरे से तय समय से भी अधिक समय देकर एक दुसरे से कई अहम मुद्दों पर चर्चा की। 

loading...