Breaking News
  • दिल्ली के उस्मानपुर में प्रॉपर्टी डीलर का मर्डर, बदमाशों ने चलाईं अंधाधुंध गोलियां
  • जापान चुनाव: शिंजो आबे की पार्टी ने आम चुनावों में जीत हासिल कर की वापसी
  • हिमाचल: 9 नवंबर को विधानसभा चुनावों के लिए नामांकन दाखिल करने का आज अंतिम दिन
  • उत्तराखंड बना देश का चौथा खुले में शौच से मुक्त राज्य

ट्रंप-पुतिन की दोस्ती से क्यों दहशत में हैं आतंकी?

वाशिंगटन: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने G-20 शिखर सम्मेलन के दौरान रुसी राष्ट्रपति व्लाद्मिर पुतिन से मुलाकात के बाद आज बड़ा बयान दिया है, उन्होंने कहा कि अब समय आ गया है कि रूस के साथ अमेरिका के रिश्ते मजबूत हों। जर्मनी के हैम्बर्ग में दोनों देशों के प्रमुखों ने लम्बी मुलाकात की थी।    

अमेरिका-रूस की दोस्ती फिर से परवान चढ़ने वाली है, इस बात के संकेत अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एक इन्टरव्यू के दौरान दिए हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने जर्मनी के हैम्बर्ग में संपन्न हुए G-20 देशों के शखर सम्मलेन में रुसी राष्ट्रपति व्लाद्मिर पुतिन से लम्बी मुलाकात की थी, इस मुलाकात के बाद अमेरिकी अखबार न्यूयॉर्क टाइम्स ने दोंलाद ट्रम्प के हवाले से कहा कि उन्होंने शुक्रवार को हैम्सबर्ग में जी20 सम्मेलन से इतर पुतिन के साथ मुलाकात में दो बार उनसे चुनाव में हस्तक्षेप के बारे में पूछा था, जिससे उन्होंने इनकार कर दिया। ट्रंप ने एक के बाद एक कई ट्वीट कर इसकी जानकारी दी। ट्रंप ने ट्वीट कर कहा कि मैंने पुतिन से दो बार चुनाव में रूस के हस्तेक्षप करने के बारे में पूछा, जिससे उन्होंने इनकार कर दिया।

सांप ने महिला को काटा, महिला ने सांप को, दोनों की हुई मौत

सावन पर कई सालों बाद आता है ऐसा संयोग- जानिए क्या है खास महत्व

इससे साफ़ हो जाता है कि रूस ने अमेरिकी चुनाव में किसी प्रकार का कोई दखल नहीं दिया है। वहीं ट्रम्प ने कहा कि अब समय आ गया है कि रूस पर अमेरिका के बीच आपसी संबंधों को सुधारा जाए, उन्होंने कहा कि आज की मांग यही है कि दोनों देश कई मुद्दों पर एकसाथ हों। ऐसे में उम्मीद की जा रही है कि अमेरिका का नया ट्रम्प प्रशासन रूस के साथ आपसी मतभेदों को भुलाकर नये रिश्तों की शुरुआत करने को इच्छुक है।   

loading...