Breaking News
  • भागलपुर: सरकारी खाते से राशि की अवैध निकासी मामले की CBI जांच, सीएम ने दिया निर्देश
  • आयकर विभाग ने लालू की बेटी मीसा भारती और उनके पति को पूछताछ के लिए बुलाया
  • उत्तर प्रदेश: 7,500 किसानों को सौंपा गया कर्ज माफी प्रमाण पत्र
  • स्पेन: बार्सिलोना आतंकी हमले में 13 की मौत, 2 संदिग्ध गिरफ्तार
  • तमिलनाडु: पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय जे. जयललिता की मौत की जांच के आदेश
  • जम्मू-कश्मीर: आतंकी फंडिंग के मामले में व्यापारी ज़हूर वताली गिरफ्तार

डोकलाम विवाद पर सुषमा के विचार को किया दरकिनार

नई दिल्ली: भारत-चीन के बीच डोकलाम मुद्दे को लेकर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने गुरुवार को सदन में बयान देते हुए कहा कि युद्ध किसी भी मसले का हल नहीं है, इस मुद्दे का हल जल्द ही निकाल लिया जाएगा, लेकिन अब खबर है कि सुषमा के इस पहल को दरकिनार करते हुए चीन ने इसे 'देरी की रणनीति' करार दिया है।

मीडिया रिपोर्टस के अनुसार चीन के रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता ने बयान जारी कर कहा कि भारत को तत्काल प्रभाव से अपनी सेना को वहां से बाहर निकालना चाहिए। चीनी मीडिया के अनुसार भारत को अपने देरी की रणनीति का भ्रम छोड़ देना चाहिए और घुसपैठ करने वाले सैनिकों को वापस बुला लेना चाहिए।

रिपोर्ट के अनुसार उन्होंने कहा कि चीनी सेना ने सामान्य द्विपक्षीय संबंधों, क्षेत्रीय शांति और स्थिरता को देखते हुए संयम बरता है। आपको बता दें कि सुषमा स्वराज ने राज्यसभा में विपक्ष को जवाब देते हुए कहा कि हम डोकलाम मुद्दे पर समझौता नहीं कर रहे हैं, हम चीन के साथ द्विपक्षीय संबंधों पर बातचीत कर रहे हैं और जिससे विवाद का हल निकालने में मदद मिलेगी।

सदन में स्वराज ने कहा कि “साल 2012 के बाद हमने इस इलाके को लेकर भूटान से कोई बातचीत नहीं की, लेकिन चीन द्वारा डोकलाम में गतिविधि बढ़ाना चिंता का विषय है, इस मुद्दे पर चीन के साथ कूटनीतिक तौर पर समाधान ढूंढने का प्रयास करते रहेंगे, साथ ही इस मुद्दे पर भूटान सरकार के साथ भी प्रमुख रूप से बातचीत और तालमेल जारी रखेंगे”।

loading...

Subscribe to our Channel