Breaking News
  • मालेगांव: 7 फरवरी को तय हो सकते हैं साध्वी प्रज्ञा, पुरोहित के खिलाफ आरोप
  • इराक की राजधानी बगदाद में एक साथ हुए दो आत्‍मघाती बम हमलों में 38 लोगों की मौत
  • अफगानिस्तान से बर्मा तक, तिब्बत से श्रीलंका तक सबका डीएनए एक: भागवत
  • काबुल: भारतीय दूतावास में गिरा रॉकेट, किसी के हताहत होने की कोई ख़बर नहीं

भारत के बाद भूटान भी चीन से भिड़ा, दिया यह बड़ा झटका

नई दिल्ली: डोकलाम पर भारत चीन विवाद के बीच अब भूटान ने भी चीन को खरी खरी सुनाई है। भूटान ने चीन के उस दावे को नकार दिया है जिसमें चीन कहता है कि डोकलाम चीन का हिस्सा है और भूटान चीन का यह आपसी विवाद है। वहीँ इससे पूर्व भारत भी चीन के आगे सख्त रुख अपनाए हुए है।

बतादें कि डोकलाम पर जहाँ भारत के कड़े रुख के आगे चीनी सेना 100 मीटर तक पीछे हटने को राजी हो गयी है, इसी बीच भूटान ने भी चीन को करारा जवाब दिया है। भूटान ने डोकलाम पर चीन के दावे को खारिज कर दिया है। भूटान ने कहा कि भूटान ने कहा है कि डोकलाम चीन का नहीं है। इसके साथ ही विवाद पर सुषमा स्वराज भूटान के विदेशमंत्री से मुलाकात करेंगी। चीन ने बुधवार को डोकलाम को अपना हिस्सा बताया था। भूटान ने सड़क निर्माण को समझौते के खिलाफ बताया है। सड़क निर्माण 1988 और 1998 के समझौते के खिलाफ है। भूटान ने चीन को साफ़ सन्देश देते हुए कहा कि डोकलाम पर हमारा रुख साफ है। भारत के बाद भूटान के रुख से चीन को चिंता जरुर होगी।

वहीँ दूसरी ओर डोकलाम पर भारत के रुख के आगे चीनी सेना ने हार मान ली है। चीनी सेना डोकलाम विवादित पॉइंट से 100 मीटर तक पीछे हट रही है, लेकिन यहाँ भारत ने अब कहा है कि चीनी सेना को कम से कम 250 मीटर पीछे हटना होगा।

बतादें कि जून में सिक्किम सीमा से स्टे डोकलाम पर चीनी सेना ने सडक का निर्माण कार्य शुरू किया था, जिसपर भारत ने आपत्ति जताए हुए सडक निर्माण को रुकवा दिया था। भारत इसे विवादित क्षेत्र मानता है। चीन, डोकलाम पर अपना दावा ठोकता है। वहीँ डोकलाम भूटान की सीमा में आता है। ऐसे में डोकलाम के मुद्दे पर भारत और चीन के बीच घमासान जारी है।

loading...