Breaking News
  • नमो एप के जरिए पीएम मोदी ने की सौभाग्य योजना के लाभार्थियों से बात
  • उत्तराखंड: टेहरी जिले में चम्बा-उत्तरकाशी मार्ग पर बस खाई में गिरी, 10 की मौत, तई घायल
  • आडवाणी के करीबी चंदन मित्रा ने बीजेपी से दिया इस्तीफा, टीएमसी में हो सकते हैं शामिल
  • ग्रे. नोएडा बिल्डिंग हादसे में अबतक 8 की मौत, अथॉरिटी प्रोजेक्ट मैनेजर समेत 3 सस्पेंड

भ्रष्टाचार के आरोप में पूर्व प्रधानमंत्री को पांच साल की कैद

ढाका: बांग्लादेश की राजनीति में बड़ा भूचाल आया हुआ है। देश की प्रमुख विपक्षी पार्टी BNP और देश की पूर्व प्रधानमंत्री खालिदा जिया को एक विशेष अदालत ने भ्रष्टाचार के मामले में पांच साल की जेल की सजा सुनाई है। इसके साथ ही उनके बेटे को भी दस साल की सजा सुनाई गयी है।

बतादें कि बांग्लादेश नेस्लिस्ट पार्टी की प्रमुख और देश की पूर्व प्रधानमंत्री खालिदा जिया को ढाका की विशेष अदालत ने 2.1 करोड़ टका (252,000 डॉलर) के विदेशी चंदे के गबन के आरोप में बड़ा फैसला सुनाते हुए पांच साल की जेल की सजा सुनाई है। गुरुवार को कोर्ट के आये इस फैसले से जहाँ प्रमुख विपक्षी पार्टी को बड़ा झटका माना जा रहा है। वहीँ इसका सत्ताधारी दल बांग्लादेश आवामी लीग को बड़ा फायदा मिल सकता है। आरोप है कि जिया ओरफनेज नामक ट्रस्ट के लिए लिए आई राशि को खालिदा जिया ने गबन किया हुआ था।

अब आपका बच्चा भी नहीं करेगा ‘जंक फ़ूड’ की जिद, सरकार ने लगाया बैन!

वहीं इस मामले में जिया के बेटे तारिक रहमान और चार अन्य को 10-10 साल कैद की सजा हई गई है। यह मामला साल 2001-2006 के बीच का है जब खालिदा जिया देश के प्रधानमन्त्री थी, उसी दौरान जिया चेरीटेबल ट्रस्ट के नाम पर विदेशी फंड का गवन किया गया था। आरोप है कि इस नाम के ट्रस्ट सिर्फ कागजो पर ही थे। 

हिंदी साहित्य की ‘गौरव’ महादेवी वर्मा की मौत के 30 साल बाद मिला टैक्स का नोटिस!

जिसके बाद देश की भ्रष्टाचार निरोधक आयोग ने जांच शुरू की। जांच में गंभीर खुलासे हुए, पाया गया कि देश की प्रधानमन्त्री की जानकारी में उनके बेटे और साथियों के अरबों रुपये का गबन किया है। इस मामले में खालिदा के बेटे तारिक रहमान को कोर्ट ने दस साल की सजा सुनाई है।

यह भी देखें-

loading...