Breaking News
  • जो राम का नहीं, वो किसी काम का नहीं-धमतरी में CM योगी
  • दौसा के बीजेपी सांसद हरीश मीणा कांग्रेस ज्वॉइन करेंगे
  • गहलोत बोले, मैं और सचिन पायलट मिलकर लड़ेंगे चुनाव
  • SC ने प्रशांत भूषण से कहा, कोर्ट में उतना ही बोलें जितना ज़रूरी हो

अमेरिका के ‘वार’ से चीन हुआ परेशान, 9 साल में सबसे...

नई दिल्ली : अमेरिका और चीन दुनिया के दो ऐसे देश है जो कि आर्थिक शक्ति से परिपूर्ण है। चीन जो की बात-बात पर अमेरिका को आंख तरेड़ता था वो अब अमेरिकी युद्ध से परेशान हो चुका है। अब आप यह सोच रहें होंगे कि क्या अमेरिका ने चीन के साथ कोई सैन्य जंग छेड़ दिया हैं? तो इसका जवाब होगा नहीं। दरअसल बात यह है कि पिछले कुछ दिनों से अमेरिका और  चीन के बीच ट्रेड वार चल रहा हैं। जिस दरम्यान दोनों देश एक-दूसरे की वस्तुओं पर प्रतिबंध तो अतिरिक्त टैक्स लगा रहें है। जिससे उन वस्तुओं का मूल्य बढ़ रहा हैं जो ये देश एक-दूसरे से आयात करते थे।

बड़ी खबर : अमेरिका ने दिया ईरान को एक और करारा झटका, लगाए नए प्रतिबंध

ट्रेड वार के जारी आंकड़े को देखकर यह लग रहा है कि अमेरिका ने चीन को इस वार में पटखनी दे दी है। आपको बता दें कि जुलाई-सितंबर तिमाही के दौरान चीन का जीडीपी ग्रोथ रेट्स 6.5 फीसदी पर आ गया है। जबकि अर्थशास्त्री जीडीपी ग्रोथ के बढ़ने का अनुमान लगा रहे थे। चीन की आर्थिक ग्रोथ की रफ्तार धीमी होने के पीछे अमेरिका के साथ शुरू हुई  ट्रेड वॉर को बताया जा रहा है। बता दें कि चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही (अप्रैल-जून) में भारत की जीडीपी विकास दर 8.2 फीसदी थी। दुनिया की बड़ी एजेंसी फिच ने पहले इस तिमाही के लिए जीडीपी में 7.7 फीसदी की वृद्धि का अनुमान लगाया था।

चीन की चाल में फंसा पाकिस्तान, अब खोलने पड़ेंगे ये गहरे राज, पढ़े पूरी खबर

IMF ने की भारत की तारीफ- अंतरराष्ट्रीय मुद्रो कोष (IMF) ने मौजूदा फिस्कल इयर के लिए भारत की जीडीपी ग्रोथ का अनुमान बरकरार रखा है। हालांकि महंगे क्रूड और ग्लोबल फाइनेंस में कमी के चलते अगले साल के लिए इसकी जीडीपी ग्रोथ में थोड़ी कमी हुई है। उसका यह भी कहना है कि इंडिया ग्रोथ के मोर्चे पर चीन से काफी आगे होगा और दुनिया में सबसे तेज ग्रोथ वाली इकॉनमी बना रहेगा।

चीनी सैनिकों का भारत पर डबल अटैक, एक तरफ चीनी सैनिक तो दूसरी तरफ...

loading...