Breaking News
  • बाढ़ और चक्रवात के खतरे में आने वाले ज़िलों में स्वंयसेवकों के प्रशिक्षण के लिए भी 'आपदा मित्र' नाम की पहल की गई है: पीएम
  • पीएम मोदी ने वैज्ञानिकों से आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की तकनीक को उपयोगी बनाने का आग्रह किया
  • विदेश सचिव विजय गोखले ने की चीन के वित्त मंत्री से मुलाकात, द्विपक्षीय एजेंडे पर हुई चर्चा
  • मन की बात कार्यक्रम के 41वें संस्करण में बोले पीएम मोदी
  • 54 साल की उम्र में बॉलीवुड एक्ट्रेस श्रीदेवी का निधन
  • भारत की Aruna Reddy ने मेलबर्न Gymnastics World Cup में कांस्य पदक जिता

जब अमेरिका को कहना पड़ा ‘हम आपके दुश्मन’ नहीं हैं!

वॉशिंगटन: ‘हम आपके दुश्मन नहीं’ अमेरिका ने यह शब्द एक ऐसे देश के लिए लहे हैं, जिसे वह ओना सबसे बड़ा शत्रु मानता है। साथ ही अमेरिका बताया है कि यह देश अमेरिका ही नहीं बल्कि पूरे विश्व के लिए बड़ा खतरा बना हुआ है। अमेरिकी विदेश मंत्री ने यह बातें तब कहीं जब दोनों देशों के बीच जंग जैसे हालात बने हुए हैं।

नार्थ कोरिया का नाम आते ही उसके तानाशाह की तस्वीर सामने आ जाती है। किम जोंन उन नार्थ कोरिया का एक ऐसा सनकी और जिद्दी तानाशाह है, जो किसी धमकी दे देता है। तानाशाह की धमकी और नार्थ कोरिया की बढती परमाणु ताकत से अमेरिका जैसा ताकतवर देश भी बुरी तरह डरा हुआ है। नार्थ कोरिया लगातार अपनी परमाणु शक्ति को बढाकर खुला प्रदर्शन आकर रहा है, जिससे अमेरिका ने उसपर कई तरह के प्रतिबन्ध लगा दिए हैं, ऐसे में नार्थ कोरिया और अमेरिका के बीच युद्ध जैसे हालत बन गये हैं।

इसी बीच अमेरिका ने नॉर्थ कोरिया पर नरम लहजा अपनाया है। अमेरिका ने लहजा नरम करते हुए कहा है कि वह नॉर्थ कोरिया में सत्ता परिवर्तन नहीं करना चाहता। अमेरिकी विदेश मंत्री रैक्स टिलरसन ने कहा है कि अमेरिका, नॉर्थ कोरिया में सत्ता परिवर्तन नहीं चाहता और न ही हम आपके दुश्मन हैं। हालांकि टिलरसन ने अपनी बात दोहराते हुए कहा कि नॉर्थ कोरिया को अपना न्यूक्लियर मिसाइल कार्यक्रम रोकना पडेगा।

विदेश मंत्री ने कहा कि आप हमारे दुश्मन नहीं हैं लेकिन आप हमारे लिए बड़ा ख़तरा बन रहे हैं, इसी लिए आप कर सख्त रुख अपनाया गया है। आपको विश्व शांति के लिए अपने परमाणु कार्यक्रमों को रोकना ही पड़ेगा। आपकी बढ़ती परमाणु क्षमता दुनिया में असुंतलन पैदा कर रही है। आप जैसा सोचते हैं, ऐसा बिलकुल नहीं है। आप भी हमारे साथी बन सकते हैं।

बतादें कि नार्थ कोरिया लागातार अपनी परमाणु क्षमता को बढ़ा रहा है। साथ ही वह कई बैलेस्टिक मिसाइलों का भी परीस्खन कर चुका है। जिसके कारण नार्थ कोरिया और अमेरिका में विवाद बना गया है। साथ ही नार्थ कोरिया के पड़ोसी देश साउथ कोरिया ओअर जापान जैसे देश भी नार्थ कोरिया की बढती परमाणु ताकत से चिंतित हैं।  

loading...