Breaking News
  • गुजरात: भुज में आपसी रंजिश में घर में लगाई आग, मां-बेटी की झुलसकर मौत
  • प्रधानमंत्री मोदी की अध्यक्षता में नीति आयोग गवर्निंग काउंसिल की चौथी बैठक
  • MP: शाजापुर में DJ की आवाज को लेकर दो समुदायों में झड़प, नियंत्रण में हालत
  • वेनेजुएला: कराकास में एक क्लब में आंसु गैस के स्टोरेज में विस्फोट, 8 नाबालिगों सहित 17 की मौत

ट्रंप-कीम की मुलाकात के एक दिन बाद ही अमेरिका ने उत्तर कोरिया को दिया बड़ा आदेश!

सियोल: पिछले काफी दिनों तक चल हां-न की स्थिती के बीच बुधवार को दुनिया के सबसे ताकतवर देशों में सुमार अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन के बीच सिंगापुर में अहम बैठक हुई है। इस बैठक के बाद अब अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि, वाशिंगटन चाहता है कि उत्तर कोरिया 2020 तक परमाणु निरस्त्रीकरण के लक्ष्य को पूरा करे।

अमेरिका के अनुसार उत्तर कोरिया 2020 तक अपनी परमाणु हथियार को नष्ट करे। बताया जाता है कि उत्तर कोरिया ने बयान में कोरियाई प्रायद्वीप के पूर्ण निरस्त्रीकरण की दिशा में काम करने पर सहमति जताई है, लेकिन इस दस्तावेज में यह साफ नहीं किया गया है कि वह इसे कब तक पूरा करेगा।

जवानों की शहादत के बीच भारत-पाकिस्तान ने किया एक और बड़ा समौता, फिर पीठ में खंजर घोपेगा PAK

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, पोम्पियो ने दक्षिण कोरिया दौरे के दौरान कहा था कि उत्तर कोरिया के साथ अभी एक बड़ा समझौता होना बाकी है। उन्होंने कहा कि, बड़े पैमाने पर निरस्त्रीकरण, हमें उम्मीद है कि इस लक्ष्य को ढाई साल में हासिल कर सकते हैं। आपको बता दें कि सिंगापुर में ट्रंप और कीम की अहम मुलाकात एक दिन पहले ही हुई है।

मुलाकात के दौरान दोनों देशों के शीर्ष नेता ट्रंप और कीम के बीच कोरियाई प्रायद्वीय को पूरी तरह से परमाणु हथियारों से मुक्त करने की दिशा में आगे बढ़ने पर सहमति बनी है, लेकिन इस समझौते में इस बात को लेकर कोई साफ ब्योरा नहीं दिया गया है कि उत्तर कोरिया कब और कैसे अपने हथियार छोड़ेगा, यही कारण है कि विश्व में इस समझौते की आलोचना भी की जा रही है।

सिंगापुर: किम को सता रहा था मौत का डर, अमेरिकी पेन को नहीं लगाया हाथ

अमेरिका से मिल रहा है भारत को खतरनाक हथियार, चीन-पाक परेशान

loading...