Breaking News
  • मोदी की बंपर जीत पर राहुल गांधी ने दी शुभकामनाएं
  • अमेठी सीट से हारे राहुल गांधी, वायनाड से मिली जीत
  • प्रियंका गांधी के साथ कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक में पहुंचे राहुल गांधी
  • राहुल गांधी के इस्तीफे पर सस्पेंस बरकरार
  • मां से आशीर्वाद लेने के लिए कल गुजरात जाएंगे मोदी
  • सूरत अग्निकांड में अब तक 21 की मौत, 3 के खिलाफ FIR दर्ज
  • चार धाम यात्रा: छह महिने के बाद खुले केदारनाथ धाम के कपाट, कल खुलेंगे बद्रीनाथ के कपाट
  • वो (ममता) अब मेरे लिए पत्थरों और थप्पड़ों की बात करती हैं: मोदी
  • पश्चिम बंगाल के बांकुरा में पीएम मोदी की चुनावी रैली, ममता पर बोला हमला
  • लोकसभा चुनाव 2019: NDA को प्रचंड बहुमत, 300 से अधिक सीटों पर बीजेपी की जीत
  • 24 मई: आज भंग हो सकती है 16वीं लोकसभा, पीएम मोदी की अध्यक्षता में केन्‍द्रीय मंत्रिमंडल की बैठक

देखिए ये दर्दनाक VIDEO, 2 बच्चों समेत 41 जिंदा जले

नई दिल्ली: ऐसा खौफनाक मंजर शायद ही पहले भी देखा होगा। जब अचानक चलता फिरता प्लेन आग का गोला बन गया। आग की लपटों का लगातार बढ़ने लगी, यात्रियों से भरे विमान में धुओं का बवंडर बनगया और देखते ही देखते प्लेन में रखे सॉलिड सामान पिघल कर लिक्विड के रूप में बाहर आने लगा। इस भीषण हादसे में करीब 41 लोगों की मौत हो गई जिनमें 2 बच्चे भी शामिल हैं।

यह घटना रविवार की है, जब मुरमान्स्क एयरपोर्ट से उड़ान भरने के कुछ ही देर में प्लेन से बड़ी-बड़ी आग की लपटें उठती दिख रहीं हैं। हादसे का शिकार यह प्लेन नेशनल कैरियर Aeroflot का सुखोई सुपरजेट था। इसमें करीब 78 यात्री सवार थे। आग लगने के बाद इस प्लेन की इमरजेंसी लैंडिग करने की कोशिश की गई, लेकिन तब तक आग बहुत अधिक फैल चुका था। वहीं क्रैश लैंडिंग के दौरान विमान में विस्फोट हो गया।

डेली मेल की रिपोर्ट के अनुसार, रूसी जांच कमेटी ने एयरपोर्ट अधिकारी के हवाले से कहा है कि कई लोगों को बाहर आने में देरी इसलिए हुई क्योंकि वे अपना हैंड लगेज उठाने लगे। वहीं, खबरों के अनुसार, 37 लोगों को हादसे में बचा लिया गया है। सोशल मीडिया पर हादसे के कई वीडियोज लोगों ने शेयर किए हैं।

वीडियो में आप देख सकते हैं कि किस प्रकार लोग अपनी जान बचाने के लिए विमान से बाहर कूद रहें है औऱ प्लेन से दूर भागते नज़र आ रहें है। एक यात्री ने कहा कि वह इंजन के पास बैठा हुआ था और उसने अपनी आंखों से देखा कि किस तरह चीजें गर्मी से पिघलने लगी। वह एग्जिट के पास पहुंचने में सफल रहा, लेकिन तब तक धुआं फैल गया था।

वहीं घटना को लेकर एयरपोर्ट अधिकारियों ने आशंका जताई है कि प्लेन में आग इलेक्ट्रिकल गड़बड़ी की वजह से लगी होगी। हालांकि अब तक प्लेन में आग लगने के वास्तविक कारणों का पता नहीं लगाया जा सका है। घटना पर रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने भी शोक व्यक्त किया है।

loading...