Breaking News
  • गुजरात: 44 बिल्डर्स और फाइनेंसरों के कई ठिकानों पर आयकर विभाग के छापे
  • सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों की वार्षिक समीक्षा बैठक में वित्त मंत्री, कर्ज देने की प्रक्रिया को ईमानदार बनाएं बैंक
  • उत्तर भारत में मौसम का कहर जारी, हिमाचल में 3 की मौत, बादल फटने से मची तबाही
  • भारत-पाक विदेश मंत्रियों की वार्ता रद्द होने के बाद सार्क बैठक पर संकट

हिमाचल: फिर सक्रिय हुआ मानसून, ला सकता है भारी तबाही!

शिमला: हिमाचल प्रदेश में पिछले कई दिनों से कमजोर पड़ा मानसून एकबार फिर से सक्रिय हो गया है। जिससे राज्य के कई हिस्सों में भारी बारिश शुरू हो गयी है। बारिश के चलते प्रशासन को अलर्ट पर रखा गया है। जिससे किसी भी आपदा से बचा जा सके।

बतादें कि पहाड़ी राज्य हिमाचल प्रदेश में लगातर भारी बारिश हो रही है। अभी कुछ दिनों से यहाँ मानसून की रफ़्तार सुस्त हो गयी थी। जिससे बारिश भी कम हो गयी, लेकिन सोमवार को यहाँ मानसून एक बार फिर से सक्रीय हो गया है। जिससे राजधानी शिमला और उससे आस पास के क्षेत्रों सहित राज्य के कई हिस्सों में भारी बारिश शुरू हो गयी है। सोमवार देर रात से जारी बारिश कई जगह अभी भी नहीं रुकी है। जिससे मंगलवार को आम जनजीवन प्रभावित रहा है।

यहाँ के स्थानीय मौसम कार्यालय के निदेशक मनमोहन सिंह ने बताया कि वर्तमान मॉनसून सत्र के दौरान वर्तमान स्थिति 14 जुलाई तक जारी रह सकती है। ऐसे में अब यह मॉनसून आगामी 14 जुलाई तक सक्रीय रह सकता है। इस दौरान राज्य के कई हिस्सों में भारी बारिश होगी। मौसम विभाग की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक़ पिछले 24 घंटे के दौरान शिमला में 60.2 मिलीमीटर, पोंटा साहिब में 50.6 मिलीमीटर, जुबरहट्टी में 32.8 मिलीमीटर, धर्मशाला में 17.4 मिलीमीटर, सुदंरनगर में 15.6 मिलीमीटर और कांगड़ा में 9.6 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गयी है।

प्रणब दा के बाद आरएसएस के कार्यक्रम में शामिल होगा यह दिग्गज

गुजरात सरकार ने दिया इजराइल को बड़ा तोहफा, गदगद हुए पीएम नेतन्याहू

 

वहीँ कुछ जगहों पर लगातार बारिश अभी भी जारी है। पहाड़ी राज्य होने के कारण भारी बारिश से यहाँ आपदा का भी खतरा बढ़ जाता है। बारिश में भूस्खलन होना आम बात है और कई स्थानों पर बाढ़ जैसी स्थित भी बन जाती है। भारी बारिश में मार्ग भी अवरुद्ध हो जाते हैं। साथ ही मार्ग दुर्घटनाओं में भी वृद्धि हो जाती है।

यह भी देखें- 

 

loading...