Breaking News
  • मोदी सरकार के खिलाफ विपक्ष का अविश्वास प्रस्ताव गिरा, सरकार के पक्ष में 325 जबकि विपक्ष में पड़े 126 वोट
  • लंदन: महिला हॉकी विश्व कप के आगाजी मुकाबले में इंग्लैंड से भिड़ेगी भारतीय टीम
  • पुणे: 3 करोड़ के पुराने नोट जब्त, गिरफ्तार किए गए 5 लोगों में कांग्रेस पार्षद शामिल
  • मॉब लिंचिंग: अलवर में गोरक्षा के नाम पर अकबर नाम के शख्स की पीट-पीटकर हत्या

मजदूरी की आड़ में हिमाचल पहुँच रहे हैं कश्मीरी आतंकी-पत्थरबाज?

शिमला: हिमाचल प्रदेश में इस समय कश्मीरी मजबूरों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। लेकिन इसी इजाफे ने पुलिस और खुफिया एजेंसियों की नींद उड़ा दी है। हिमाचल प्रदेश में बड़े पैमाने पर कश्मीरी मजदूर, मजदूरी के नाम पर पहुंच रहे हैं। जोकि पुलिस के लिए बड़ा मुसीबत का सबब बने हुए हैं।

दरअसल हिमाचल प्रदेश में जम्मू कश्मीर के मजदूरों की संख्या में बड़ा इजाफा हो रहा है। एक मीडिया रिपोर्ट में इस बात का दावा किया गया है कि पिछले कई सालों के मुकाबले इस साल राज्य में जम्मू कश्मीर ने बड़ी मात्रा में मजदूर हिमाचल प्रदेश पहुंचे हैं। जिसमें सत्तर फीसद युवा बताये जा रहे हैं। ऐसे में कश्मीरी युवाओं की राज्य में लगातार बढती संख्या पुलिस के लिए मुसीबत बनती जा रही है। कारण यह है कि पडोसी राज्य होने के कारण पुलिस के पास उनका कोई पुख्ता रिकॉर्ड नहीं है।

JK: BJP ने वापस लिया महबूबा सरकार से समर्थन, सीएम महबूबा ने दिया इस्तीफा

राज्य में कश्मीरियों की बढती संख्या से दो तरह के खतरे बढ़ रहे हैं। पहला तो इन कश्मीरी मजदूरों की आड़ में कश्मीर में सेना पर पत्थर फेंकने वाले भी हो सकते हैं। साथ ही सबसे बड़ा खतरा जम्मू कश्मीर के मुस्लिम युवाओं का आतंक के प्रति बढ़ता लगाओ। अब समझने वाली बात यह है कि जो कश्मीरी युवा आतंकी बन कर घाटी में सेना पर गोली बरसा सकता है या लोगों का कत्लेआम कर सकता है। वहीँ कश्मीरी युवा भारत के किसी अन्य राज्य में जाकर भी आतंकी वारदात को अंजाम दे सकता है?

बाढ़ का कहर: एयरफोर्स से ली गयी मदद, अब तक दर्जनों की मौत

इसी चिंता से पुलिस और राज्य की खुफिया एजेंसियों के कान खड़े हो गये हैं! क्योंकि पिछले कुछ माह में ही हिमाचल में कश्मीरी मजदूरों की संख्या अचानक बढ़ी है। वैसे इससे पहले भी कई आतंकी हिमाचल में छुपे पकड़े जा चुके हैं। जिससे राज्य की सुरक्षा पर बड़ा खतरा मंडरा रहा है। दरअसल यह मजदूरी की आड़ में किसी भी राज्य में जा सकते हैं। भारतीय होने के नाते इसपर शक करना मुश्किल होता है लेकिन यह बड़ी समस्या बन सकते हैं। 

यह भी देखें-

loading...