Breaking News
  • एशियाई एथलेक्टिस चैंपियनशिप: भारत की PUChitra ने 1500 मी. रेस में जीता स्वर्ण
  • एशियाई एथलेक्टिस चैंपियनशिप: 200 मी. रेस में दुत्ती चंद ने जीता कांस्य
  • दो दिन के वाराणसी दौरे पर प्रधानमंत्री मोदी, 25 अप्रैल को भव्य रोड शो 26 को नामांकन
  • जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ में 2 आतंकी ढेर

‘इरेक्टाइल डिसफंक्शन’ के कारण लिंग संभोग के लिए पर्याप्त उत्तेजित नहीं हो पाता, जानिए उपाय!

नई दिल्ली: भाग-दौड़ से भरी जिंदगी में अपने दांपत्य जीवन को अधिक सुखमय बनाने के लिए काफी संख्या में लोग वियाग्रा जैसी दवाओं का इस्तेमाल करते हैं। शायद आपने भी सुना होगा, वियाग्रा खाने के बाद मर्दों में नई ताकत आ जाती है, जिसके बाद वह पहले के मुकाबले अधिक समय तक बिस्तर पर टिके रहते हैं।

google image

लेकिन क्या आप जानते हैं आखिर ऐसा क्यों होता है? दरअसल, कम शब्दों में समझे तो ऐसा ‘इरेक्टाइल डिसफंक्शन’ के कारण होता है। यह एक ऐसी अवस्था है जब पुरुष का लिंग संभोग के लिए पर्याप्त उत्तेजित नहीं हो पाता। ऐसा लिंग में ब्लड फ्लो ना होने के कारण हो सकता है, जिसके कारण उत्तेजना की कमी महसूस होती है।

मात्र 5 मिनट में जोश से भर देगा वियाग्रा का नया वर्जन!

वियाग्रा के इस्तेमाल से ब्लड फ्लो की परेशानी खत्म होती है और आपके लिंग को अधिक ताकत मिलती है, जिसके कारण वियाग्रा लेने के बाद पुरुषों में अधिक देर तक संभोग करने की ताकत आती है। साथ ही व्यक्ति शारीरिक तौर पर भी आधिक ताकतवर फील करता है।

 

एक स्टडी के अनुसार, 40 से 70 साल के पुरुषों में ‘इरेक्टाइल डिसफंक्शन’ की समस्या होती है। हालांकि अधिकांश लोग किसी के साथ इस तरह की परेशानियां शेयर नहीं करना चाहते। आपको याद दिला दें कि इन्हीं परेशानियों की ओर इशारा करती अभिनेता आयुष्मान खुराना की फिल्म  'शुभ मंगल सावधान' भी आई, लेकिन विडंबना देखिए कि, फिल्म में कहीं भी ‘इरेक्टाइल डिसफंक्शन’ का नाम तक नहीं लिया जा सका।

इस लिए कम हो जाती है महिलाओं की संभोग करने की इच्छा!

अगर आप चाहते हैं कि अभी या भविष्य में कभी भी इस समय से बचे रहे तो इसके लिए आपको अपने खान-पान का खास ख्याल रखना चाहिए। साथ ही आप व्याम और नियमित रूप से वॉक कर इस समये से बचे रह सकते हैं। आप मांसपेशियों का व्यायाम करिए, यह आपके लिए अधिक लाभदायक हो सकता है।

loading...