Breaking News
  • चार धाम यात्रा: छह महिने के बाद खुले केदारनाथ धाम के कपाट, कल खुलेंगे बद्रीनाथ के कपाट
  • वो (ममता) अब मेरे लिए पत्थरों और थप्पड़ों की बात करती हैं: मोदी
  • पश्चिम बंगाल के बांकुरा में पीएम मोदी की चुनावी रैली, ममता पर बोला हमला
  • लोकसभा चुनाव में 200 सीटों के अंदर सिमट जाएगी एनडीए: चंद्रबाबू नायडू
  • पश्चिम बंगाल में वोटिंग के दौरान हिंसा, दमदम में रो पड़े मतदान अधिकारी
  • गोडसे विवाद पर नीतीश, साध्वी प्रज्ञा का बयान बर्दाश्त से बाहर, पार्टी से निकाला जाए
  • लोकसभा चुनाव: सातवें व अंतिन चरण में 8 राज्यों की 59 सीटों पर वोटिंग

गुजरात सीएम को मुंह चिढ़ा रही है यह आंकड़ा, की थी यह घोषणा

गुजरात : गुजरात से उत्तर भारत के लोगों को लगातार पलायन जारी है लेकिन वहां के सीएम कह रहें है कि नहीं अब हमारे राज्य की स्थिति पहले से दुरूस्त हो गई है। अब पहले जैसी स्थिति नहीं हैं चारो तरफ शांति का माहौल है। इसी बीच एक अखबार ने एक ऐसा आंकड़ा जारी किया है जिसे जानने के बाद मुख्यमंत्री साहब की चिकनी-चुपड़ी बातों की पोल खुल जाएगी।

बड़ी खबर : 'आप' सरकार को हाइकोर्ट का बड़ा झटका, कोर्ट ने लगाया भेदभाव का आरोप

आपको पहले हम यह बता दे कि गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी जी ने क्या कहा था। उन्होंने कहा था कि लोग हेट क्राइम्स की वजह से नहीं, बल्कि त्योहारों की वजह से घर वापस जा रहे हैं।

एक अखबार की माने तो, अहमदाबाद समेत चार बड़े स्टेशन्स से 5 और 7 अक्टूबर के बीच पैसेंजर ट्रैफिक पिछले साल की तुलना में काफी बढ़ा हुआ था। गांधीधाम स्टेशन में 6 अक्टूबर को 137 प्रतिशत बढ़ोतरी देखी गई। अगर लोग केवल त्योहारों के लिए जा रहे होते तो इतनी बढ़ोतरी होना असंभव था।

बुरी खबर : 48 घंटों तक इंटरनेटसेवा हो सकती है बाधित, पढ़िए पूरी खबर

कई स्टेशनों पर बढ़ी संख्या

वहीं, 5 अक्टूबर को अहमदाबाद और मेहसाणा में यात्रियों की संख्या में लगभग 24 प्रतिशत की बढ़ोतरी देखी गई जो 7 अक्टूबर को 60 प्रतिशत के करीब पहुंच गई थी। एक रेलवे अधिकारी ने भी बताया कि बड़ी संख्या में लोगों के घर जाने के पीछे डर एक बड़ा कारण है। वहीं डिविजनल रेलवे मैनेजर दिनेश कुमार ने कहा कि इतने सारे लोगों का एक साथ जाना यकीनन ही पलायन है।

सवर्ण सेना सदस्य ने ‘नीतीश को मारा चप्पल’, CM के सामने ने हुई धुनाई!

loading...