Breaking News
  • सौदे की सीबीआई जांच की मांग वाली याचिकाएं सुप्रीम कोर्ट में खारिज
  • राफेल की गुणवत्ता पर सवाल नहीं, कीमत जानना जरूरी नहीं : सीजेआई
  • राज्यसभा की कार्यवाही दिनभर के लिए स्थगित
  • पर्थ टेस्ट: ऑस्ट्रेलिया ने जीता टॉस, पहले बल्लेबाजी का फैसला

फंसे थे बीच समंदर में तभी आसमान में नजर आया कोई फरिश्ता...

अहमदाबाद: कभी कभार साँसों की डोर मौत के इतने नजदीक से गुजर जाती है कि उसके बाद बचाने वाल शख्स फरिस्ता लगने लगता है। दरअसल हुआ भी कुछ ऐसा ही जब बीच समंदर में एक नाव का ईंजन फेल हो गया और नाव सवार सभी लोग वहीँ फंस गये। लेकिन इसी दौरान कुछ ऐसा हुआ जिसकी कम ही उम्मीद थी।

दरअसल बुधवार सुबह के समय गुजरात के पोरबंदर तट से कई मील दूर टग्बोट पर सवार सात नाविकों की नाव का इंजन फेल गया. जिससे सभी सातों नाविक बीच समुद्र में ही फंस गये। चारो ओर पानी से सनसनाती लहरों और बड़े बड़े समुद्री जीवों के बीच फंसे सातों नाविकों को अपनी मौत के सिवा कुछ और दिखाई नहीं दे रहा था। मीडिया में जारी खबरों की माने तो गुजरात में पोरबंदर तट के पास बीच समुद्र में नाविकों की टग्बोट का इंजन फेल हो गया। जिससे वह बीच समुद्र में ही फंस गये।

बड़ी खबर: दिल्ली-एनसीआर में बढ़े प्रदूषण पर सरकार ने लिया बड़ा फैसला

उन्हें पानी की लहरें जहाँ चाह रहीं थीं वहीँ ले जा रहीं थीं। इसी बीच सातों नाविकों के लिए फरिस्ता बनकर भारतीय तट रक्षक चालकों ने सभी को बाहर निकाला। बुधवार सुबह सभी सातों नाविकों को भारतीय तट रक्षक दल ने रक्षक हेलीकॉप्टर से एयर लिफ्ट के जरिये पोरबंदर तट पर लाये। एक घटना के बारे में एक नाविक ने कहा कि वह, जामनगर सिक्का पोर्ट के लिए निकले हुए थे। इसी दौरान उनकी नाव का ईंजन फेल हो गया। जिससे वह बीच में ही फंस गये। वहीँ रात को मौसम भी खराब होने लगा।

पीएम मोदी के आवास के ऊपर उड़ता दिखाई दिया UFO, जारी हुआ अलर्ट...

जिससे उनकी नाव पोरबंदर हार्बर की तरफ खिसकने लगी। जिसके बाद उन्होंने भारतीय तट रक्षक दल को आपात मदद का सन्देश भेजा। भारतीय तट रक्षक दल की मदद से सभी सातों को एयरलिफ्ट के जरिये वापस लाया गया। क्योंकि उनकी नाव गहरे पानी में बंद हुई थी। इसलिए नाव को खीच ला पाना मुश्किल था। हालाँकि सभी की जान बच गयी।      

यह भी देखें-

loading...