Breaking News
  • संसद के मॉनसून सत्र से पहले लोकसभाध्यक्ष ने बुलाई सर्वदलीय बैठक
  • गुजरात में बारिश से अबतक 28 की मौत, यूपी-एमपी में अलर्ट
  • मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाएगी टीडीपी, विपक्षी दलों से मांगा समर्थन
  • भारत-इंग्लैंड के बीच तीसरा और निर्णायक वनडे मैच

गुजरात: ABVP की सरेआम गुंडई, कालिख पोत प्रोफेसर का निकाला जुलूस

गांधीनगर: गुजरात में आरएसएस से जुड़े एक संगठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् (एबीवीपी) के कार्यकर्ताओं की गुंडई सामने आई है। बताया जा रहा है एबीवीपी कार्यकर्ताओं ने एक प्रोफेसर के चेहरे पर कालिख पोत कर उसका जुलूस निकाला, जिसके बाद विश्वविद्यालय में तनाव बना हुआ है।

बतादें कि 26 जून की घटना के विश्वविद्यालय में शिक्षकों का गुस्सा जारी है। पूरा मामला 26 जून का है जब गुजरात के कच्छ विश्वविद्यालय सीनेट चुनाव में धांधली का आरोप लगाते हुए एबीवीपी के कार्यकर्ताओं ने एक प्रोफेसर के साथ सारी मर्यादा की हदें पार करते हुए उसके मुंह पर कालिख पोत दी थी। वहीँ एबीवीपी के गुंडे यहीं नहीं रुके उन्होंने कालिख पोतने के बाद प्रोफेसर का जुलूस भी निकाला। एबीवीपी के गुंडों के इस हाई प्रोफाइल आतंक के बाद पुलिस ने मामला दर्ज कर आनन फानन में कार्रवाई शुरू कर दी है।

मोदी-योगी पर तोगड़िया का बड़ा हमला: कहा नहीं बना मंदिर तो समझो...

इस घटना के बाद जहाँ शिक्षक और छात्र के बीच की सारी मर्यादाएं टूट गयीं हैं तो वहीँ घटना के बाद से विश्वविद्यालय में तनाव और शिक्षकों में गुस्सा देखा जा रहा है। एबीवीपी के कार्यकर्ताओं की हरकत से विश्वविद्यालय के शिक्षकों ने आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग कर रहे हैं। अध्यापकों ने कहा है कि अगर आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई नहीं हुई तो वह प्रदर्शन करेंगे।

एनडीए में विवाद: फिर साथ आ सकते हैं नीतीश और लालू, फ़ोन पर हुई यह बात

पूरे मामले पर कच्छ विश्वविद्यालय के कुलपति सीबी जडेजा ने कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि आरोपी छात्रों के खिलाफ एफआईआर दर्ज होने के बाद आगे की कार्रवाई की जा रही है। इस संगीन घटना में जो भी शामिल होगा उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी, इस मामले में पांच छात्र गिरफ्तार हुए हैं। इससे पहले भी दिल्ली के डीयू और जेएनयु जैसे शिक्षण संस्थानों को भी एबीवीपी कलंकित कर चुका है। शिक्षा के नाम पर गुंडई और उग्र विचारधारा का समर्थन करने वाले इन कथित छात्रों का जो भी विरोध करता है उसके साथ यह ऐसा ही सलूक करते हैं।  

यह भी देखे-

loading...