Breaking News
  • बिहारः मुठभेड़ में खगड़िया के पसराहा थाना अध्यक्ष आशीष कुमार सिंह शहीद
  • J-K: पुलवामा में सुरक्षा बलों ने हिजबुल के एक आतंकी को मार गिराया
  • दिल्ली में आज पेट्रोल की कीमत 82.66 रुपए प्रति लीटर, डीजल 75.19 रुपए प्रति लीटर
  • J-K:स्थानीय निकाय चुनाव के लिए तीसरे चरण की वोटिंग जारी

गुजरात छोड़ रहे लोगों से कांग्रेसी नेता ने कहा- 'कहां जा रहे हैं, मत जाइए ऐसी सुरक्षा कही और नहीं'

नई दिल्ली: भाजपा शासित राज्य गुजरात के साबरकांठा जिले में पिछले दिनों 14 माहीने की एक बच्ची के साथ बलात्कार की घटना के बाद गैर-गुजरातियों पर कथित तौर पर 40 से अधिक बार हमला हुआ है। हमला करने वाले स्थानीय लोग बिहार, उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के लोगों को निशाना बना कर उनके साथ मारपीट कर रहे हैं उन्हें गुजरात छोड़ने को मजबूर कर रहे हैं।

आपको बता दें कि गुजरात में गौर-गुजरातियों पर बरपाए जा रहे कहर यानी हिंसा के मामले में कांग्रेस नेता अल्पेश ठाकोर को जिम्मेदार बताया जा रहा है। इसकी एक बढ़ी वहज है कि हिंसा कर रहे लोग बार-बार ठाकोर समाज, ठाकोर समुदाय का नाम ले-लेकर गैर-गुजरातियों पर कहर ढा रहे हैं। हालांकि सरकार का दावा कि बीचे 48 घंटों से हिंसा की कोई घटना नहीं घटी है।

इनसाइड स्टोरी: गुजरात में यूपी, बिहार वालों के साथ दिल दहला देने वाली घटना की सच्चाई!

वहीं हिंसा भड़काने के आरोपों पर सफाई देते हुए अल्पेश ठाकोर मीडिया के कैमरे के सामने ही रोने लगे। उन्होंने कहा कि, मेरे बच्चा बीमार है और मुझ पर ऐसे आरोप लगाए जा रहे हैं। ठाकोर ने कहा कि मैंने तो लोगों को समझाने का प्रयास किया था लेकिन मुझे ही विलेन बना दिया गया। उन्होंने कहा कि ऐसा वो लोग कर रहे हैं जो लाशों पर राजनीत करते हैं। अगर ऐसा ही चलता रहा तो मैं राजनीति ही त्याग दूंगा।

उत्तर भारतीयों के पलायन पर पीएम मोदी ने लगाई गुजरात सरकार को कड़ी फटकार

गुजरात से जा रहे लोगों को लेकर ठाकोर ने कहा है कि गुजरात छोड़ रहे लोग छठ पूजा के लिए जा रहे हैं। समय से पहले जाने को लेकर उन्होंने कहा कि क्योंकि राज्य में ऐसा अफवाह फैला दी गई इसलिए वे लोग 15 दिन पहले ही जा रहे हैं। साथ ही ठाकोर ने हिंसा के कारण गुजरात छोड़कर जा रहे लोगों से अपील करते हुए कहा कि, मत जाओ. आप हमारे अपने लोग हो।

भारत माता की जय बोलने पर स्कूली छात्रों की बेरहमी से पिटाई

उन्होंने कहा कि जो सुरक्षा, प्यार और भाईचारा आपको यहां मिल रहा है और कहीं नहीं मिलेगा। ठाकोर ने कहा कि इन दिनों जो भी हो रहा है वह दुर्भाग्यपूर्ण है और इससे भी बुरा है कि ये सब मेरे नाम पर हो रहा है। ठाकोर ने कहा कि ओबीसी, पिछड़े, मजदूरों और गरीब लोगों के लिए मैं राजनीति में आया था। किसी को पीटने की योजना बनाना मेरी राजनीति नहीं है।

loading...