Breaking News
  • राम मंदिर मामले में SC कोताही बरत रहा है- CM योगी के मंत्री धर्मपाल का बयान
  • रेवाडी: पुलिस टीम पर बदमाशों का हमला, सब इंस्पेक्टर की मौत
  • सबरीमाला: निलक्कल, पंबा में धारा-144 लगाई गई
  • लखनऊ: पुलिस लाइन में सीएम योगी का औचक निरीक्षण

गुजरात में हुआ 5,000 करोड़ का घोटाला, पूर्व बीजेपी नेता भगोड़ा घोषित

नई दिल्ली:- कांग्रेस ने गुरुवार को गुजरात में 5,000 करोड़ रुपये से ज्यादा के 'बिटक्वाइन घोटाले' का आरोप लगाया। पार्टी ने इस घोटाले में भाजपा के कुछ नेताओं के शामिल होने का अंदेशा जताया और मामले की सर्वोच्च न्यायालय की निगरानी में न्यायिक जांच की मांग की। कांग्रेस प्रवक्ता शक्ति सिंह गोहिल ने यहां पत्रकारों से कहा, "यह बहुस्तरीय घोटला था और गुजरात सीआईडी इसे 5,000 करोड़ रुपये से ज्यादा का घोटाला बता रही है, जबकि कुछ न्यूज रिपोर्ट और स्वतंत्र ब्लॉग ने इस घोटाले को लगभग 88,000 करोड़ का बताया है।"

गोहिल ने कहा, "गुजरात में एक नए बिटक्वाइन घोटाले का पता चला है। अवैध क्रिप्टोकरेंसी के इस बड़े घोटाले में संदेह सीधे भारतीय जनता पार्टी के बड़े नेताओं और एक मास्टरमाइंड की ओर इशारा कर रहे हैं, जोकि भाजपा का एक भगोड़ा नेता और पूर्व विधायक नलिन कोटादिया है।"

इस फिल्म ने मचाया बवाल, ट्रेलर के बजाय यूट्यूब पर अपलोड हो गई पूरी फिल्म

भारत में बिटक्वाइन जैसे डिजिटल करेंसी की वैधानिक मान्यता नहीं है।

गोहिल ने कहा कि यह घोटाला भानुमति का पिटारा था 'जहां गुजरात में भाजपा नेताओं के आदेश से सीबीआई/पुलिस/सरकारी प्राधिकरणों का प्रयोग करके क्रिप्टोकरेंसी की उगाही, अवैध हवाला लेन-देन, अपहरण की वारदातें हुईं।

मौत के समय इस अभिनेत्री के शरीर पर रेंग रही थे कीड़े और चीटियां

गोहिल ने कहा कि जांच एजेंसी ने पाया कि गुजरात के अमरेली जिला पुलिस उगाही में संलिप्त थी और जिलाधिकारी जगदीश पटेल समेत कई पुलिस अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की गई।

उन्होंने कहा, "सीआईडी को पता चला कि इस घोटाले का मास्टरमाइंड नलिन कोटादिया है।"

उन्होंने कहा कि कोटादिया फरार है लेकिन उसने एक वीडियो में कहा है कि 'अगर उसे गिरफ्तार किया गया तो, वह सबूतों का खुलासा करेगा जो राज्य में भाजपा नेताओं का पर्दाफाश कर देगा।'

विराट कोहली से आगे निकल गई प्रियंका चोपड़ा, दिया खूबसूरत एक्ट्रेस को भी मात!

उन्होंने कहा, "वरिष्ठ भाजपा नेता कौन है, कोटादिया किसके खिलाफ सबूत की बात कर रहा है? हम सर्वोच्च न्यायालय की निगरानी में न्यायिक जांच की मांग करते हैं।"

loading...