Breaking News
  • 2019 में महाराष्ट्र में अकेल दम पर चुनाव लड़ेगी शिवसेना
  • रेप के आरोपी दाती महाराज ने पेशी के लिए पुलिस से मांगी दो दिन की मोहलत
  • यूपी: गो हत्या के आरोप में शख्स की पीट-पीट कर हत्या

ओपन लेटर में फिल्म ‘पद्मावत’ का अपमान करने पर स्वरा भास्कर का शॉकिंग जवाब...

मुंबई:- संजय लीला भंसाली की फिल्म से बॉलीवुड में डेब्यू करने वाली हॉट एक्ट्रेस स्वरा भास्कर इन दिनों फिल्म पद्मावत को लेकर खबरों की सुर्खियों में बनी हुई है। हाल ही में स्वरा ने संजय को खुला खत लिखा था, इसी खत को लेकर स्वरा सुर्खियों में है।

100 करोड़ कमाने वाले लड़के से शादी करना चाहती है यह लड़की, मुकेश अंबानी ने दिया जवाब, आप भी पढ़िए...

बीते दिन एक अवॉर्ड समारोह में इस मुद्दे पर स्वरा ने खुलकर बातचीत की। मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए स्वरा ने कहा कि, देश में सभी को अपनी बात रखने का हक है, वहीं मैने किया है। मैने अपनी बात बेहद शालीनता के साथ रखी है, लोगों को बुरा क्यों लग रहा है इसके बारे में मैं नहीं बता सकती। स्वार ने आगे कहा कि, मुझे नहीं लग रहा था कि मेरे इस खुले खत से इतना बवाल हो जाएगा, वैसे लोगों को इतना नाराज नहीं होना चाहिए।

दरअसल स्वरा ने एक वेबसाइट पर संजय लीला भंसाली की फिल्म 'पद्मावत' पर खुला खत लिखा था। जिसके बाद ये सारा बवाल शुरू हुआ।

बेवॉच एक्ट्रेस बोलीं- 14 साल की उम्र में मेरे साथ गैराज में इसने...

 आइए आपको बताते हैं कि इस खत में था क्या?

उन्होंने लिखा, मुझे ऐसा लगा कि महिलाओं और महिला आंदोलनों के सालों बाद जो सभी छोटी उपलब्धियां, जैसे मतदान का अधिकार, संपत्ति का अधिकार, शिक्षा का अधिकार, 'समान काम समान वेतन' का अधिकार, मातृत्व अवकाश, विशाखा आदेश का मामला, बच्चा गोद लेने का अधिकार मिले।। सभी तर्कहीन थे। क्योंकि हम मूल सवाल पर लौट आए।

उन्होंने लिखा, हम जीने के अधिकार के बेसिक सवाल पर लौट आए। आपकी फिल्म देखकर लगा कि हम उसी काले अध्याय के सवाल पर ही पहुंच गए हैं कि क्या विधवा, दुष्कर्म पीड़िता, युवती, वृद्धा, गर्भवती, किशोरी को जीने का अधिकार है?

उन्होंने जोर देते हुए कहा कि महिलाओं को दुष्कर्म के बाद पति, पुरुष रक्षक, मालिक और महिलाओं की सेक्सुएलिटी तय करने वाले, आप उन्हें जो भी समझते हों, मौत के बाद भी महिलाओं को स्वतंत्र होकर जीने का हक है।

मेहश भट्ट ने टीवी पर भी फैलाया गंध, देखें VIDEO

स्वरा ने फिल्म के आखिरी सीन को बहुत ज्यादा असहज बताया, जिसमें अभिनेत्री दीपिका पादुकोण (रानी पद्मावती) कुछ महिलाओं के साथ जौहर कर रही थीं।

उन्होंने कहा, महिलाएं चलती फिरती योनि मात्र नहीं हैं। हां, उनके पास योनि है, लेकिन उनके पास उससे भी ज्यादा बहुत कुछ है। उनकी पूरी जिंदगी योनि पर ही ध्यान केंद्रित करने, उस पर नियंत्रण करने, उसकी रक्षा करने और उसे पवित्र बनाए रखने के लिए नहीं है।

स्वरा ने कहा कि उन्हें उम्मीद थी कि भंसाली अपनी इस फिल्म में 'सतीप्रथा' और 'जौहर' की कुछ हद तक निंदा करेंगे।

उन्होंने लिखा, आपका सिनेमा मुख्य रूप से प्रेरणाशील, उद्बोधक और शक्तिशाली है। ये अपने दर्शकों की भावनाओं को नियंत्रित करता है। ये सोच को प्रभावित कर सकता है और सर, आप अपनी फिल्म में जो दिखा रहे हैं और बोल रहे हैं, इसके लिए सिर्फ आप ही जिम्मेदार हैं।

loading...