Breaking News
  • मध्य प्रदेश के भोपाल में आज से खुलेंगे बाजार, 22 मार्च से लगातार बंद
  • जामिया हिंसा मामले में पिंजरा तोड़ ग्रुप की दोनों छात्राएं दो दिन की क्राइम ब्रांच रिमांड पर
  • मरकज मामले में दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच 15 नई चार्जशीट दाखिल करेंगे
  • केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि कोरोना पर झूठ फैला रहे हैं राहुल गांधी
  • महाराष्ट्र : पिछले 24 घंटे में 75 और पुलिसकर्मी कोरोना पॉजिटिव

आखिर क्या है, डॉक्टरों की मांग जो पहुंच गया दिल्ली तक बवाल!

NEW DELHI :  लोकसभा में नेशनल मेडिकल कमिशन (एनएमसी) बिल के पास होने के बाद डॉक्टरों का बढ़ता विरोध अब राजधानी दिल्ली पहुंच गया है। दिल्ली के रेजिडेंट्स डॉक्टर्स ने पहली अगस्त को सुबह आठ बजे से इसके विरोध में हड़ताल की घोषणा की है. इस हड़ताल से दिल्ली में स्वास्थ्य सेवाएँ बुरी तरह प्रभावित हो सकती हैं।

दिल्ली स्थित AIIMS के डॉक्टरों ने गुरुवार को संसद चलो का आह्वान किया है। AIIMS के रेजिडेंट डॉक्टरों ने संस्थान के सभी डॉक्टरों से NMC बिल के विरोध में गुरुवार को एम्स से लेकर संसद तक विरोध मार्च में शामिल होने की अपील की है। वहीं आरएमएल हॉस्पिटल ने एक बयान जारी कर कहा है कि गुरुवार से रूटीन ऑपरेशन अगले आदेश तक निलंबित रहेंगे।

हड़ताली डॉक्टरों की मांग है, कि बिल को जिस तरह लोकसभा में पास किया गया है, उसी तरह राज्यसभा में पेश ना किया जाए। इसमें डॉक्टरों की मांग के अनुसार संशोधन करके इसे राज्यसभा में पेश किया जाए। ऐसा नहीं होता है तो गुरुवार से सभी अस्पतालों में हड़ताल की जाएगी। डॉक्टरों की केवल दो मांग हैं कि बिल के आर्टिकल 15 और 32 में बदलाव किया जाए, लेकिन सरकार बदलाव को तैयार नहीं है।

यूनाईटेड डॉक्टर्स रेजिडेंट असोसिएशन (यूआरडीए) के प्रेजिडेंट डॉ. मनु गौतम के मुताबिक, यूआरडीए, फोर्डा और एम्स की आरडीए की लंबी मीटिंग हुई जिसमें यह फैसला लिया गया। अगर गुरुवार को इस बिल में डॉक्टरों की मांग के अनुसार संशोधन करके राज्यसभा में पेश नहीं किया जाता तो देशभर में डॉक्टरों की हड़ताल रहेगी।

loading...