Breaking News
  • पहली बार पत्थर फेंकने वालों के खिलाफ मामले वापस होंगे: J&K सीएम
  • दिल्ली: पीएम मोदी ने किया साइबर स्पेस पर 5वीं वैश्विक सम्मेलन का उद्घाटन
  • रिहा होते ही हाफिज सईद ने उगला जहर, कहा- जल्द आजाद होगा कश्मीर
  • कोहरे के कारण 17 ट्रेन लेट, 6 के समय में बदलाव, एक रद्द

UP: दरोगा भर्ती परीक्षा-2016 में बड़ा खुलासा- रिमोट ऐक्सेस टूल से...

लखनऊ: उत्तर-प्रदेश में दरोगा के लिए सीधी भर्ती परीक्षा-2016 में ऑनलाइन पेपर लीक मामले की जांच कर रही स्पेशल टॉस्क फोर्स ने बड़ा खुलासा किए जाने का दावा करते हुए मामले में सात लोगों पर शिकंजा कर दिया है। खबरों के अनुसार इसके कारनामें के पिछे सौरभ जाखड़ गैंग का हाथ है।

जानकारी के अनुसार पेपर लीक के इस वारदात को रिमोट ऐक्सेस टूल की मदद से अंजाम दिया गया था। यहीं परीक्षा आयोजित कराने वाली एजेंसी एनएसईआईटी की भी बड़ी लापरवाही की बात सामने आ रही है। बता दें कि कानपुर में रेलवे की ऑनलाइन परीक्षा में गड़बड़ी के आरोप में जेल में बंद आरोपी के इंस्टीट्यॅूट को ही एजेंसी ने परीक्षा सेंटर बनाने का फैसला किया था।

आगरा के इसी सेंटर ओम ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशन से परीक्षा में गड़बड़ी का खुलासा करते हुए एसटीएफ ने इंस्टीट्यूट के संचालक, आईटी हेड, विजिलेटर, तीन अभ्यर्थी  और एक मीडिएटर को भी गिरफ्तार किया है। बताया जाता है कि इस रैकेट के तार हरियाणा, दिल्ली और एमपी से भी जुड़े हैं।

आईजी एसटीएफ अमिताभ यश के अनुसार 17 से 31 जुलाई के बीच प्रदेश के 97 सेंटर पर दरोगा भर्ती की ऑनलाइन परीक्षा आयोजित की गई थी। इसी दौरान सोशल मीडिया पर पेपर लीक की जानकारी मिली थी। उन्होंने बताया कि पेपर लीक के लिए रिमोट एक्सेस टूल का इस्तेमाल किया गया और परीक्षार्थी को रिमोट एक्सेस टूल का पासवर्ड भी दिया जाता था।

बताया जा रहा है कि रिमोट एक्सेस टूल की मदद से सेंटर से बाहर बैठा व्यक्ति दूसरे कम्यूटर पर उस प्रश्नपत्र को हल कर देता था। इसके लिए प्रति अभ्यर्थी से दस-दस लाख रुपये लिए जा रहे थे, जिसमें से तीन-तीन लाख एडवांस में भी लिए गए थे और बाकी के पैसे परीक्षा के बाद देने थे।

loading...