Breaking News
  • सऊदी अरब में महिलाओं को वाहन चलाने की अनुमति मिल गई
  • पीएम मोदी ने दिल्ली-हरियाणा मेट्रो के ग्रीन लाइन को हरी झंडी दिखाई
  • जीएसटी को लेकर किए गए सारे फैसले सर्वसहमति से किये गए: PM
  • पीएम मोदी ने रेडियो पर मन की बात के 45वें संस्करण को संबोधित किया

स्कूल में योग अनिवार्य करने पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला

नई दिल्ली: देश की सबसे बड़ी अदालत सुप्रीम कोर्ट ने स्कूलों में योग की शिक्षा को अनिवार्य किए जाने से इनकार करते हुए कहा कि योग किसी पर थोपा नहीं जा सकता। मामले पर सुनवाई के दौरान अदालत ने कहा कि हम इस पर कोई फैसला नहीं कर सकते है, स्कूलों में क्या सिखाया जाए इस मसले पर सरकार ही फैसला ले सकती है।

आपको बता दें कि स्कूलों में पहली कक्षा से आठवीं कक्षा तक के लिए योग अनिवार्य करने से संबंधित एक मामले की सुनवाई के दौरान अदालत के न्यायमूर्ति मदन बी. लोकुर की अध्यक्षता वाली पीठ ने इससे से संबंधित याचिका को खारिज करते हुए यह तर्क दिया है।

आपको बता दें कि मामले पर अदालत में वकील अश्विनी कुमार उपाध्याय के सथ बीजेपी प्रवक्ता और जे.सी. सेठ ने याचिका दायर की थी, जिस पर अदालत ने अपना रुख साफ कर दिया है। बता दें कि उपाध्याय ने अदालत में सरकार को योग और स्वास्थ्य शिक्षा के लए किताब जारी के निर्देश देने की भा मांग की थी।

loading...