Breaking News
  • कुश्ती के 97 किलो भारवर्ग में भारत के मौसम खत्री की 8-0 से निराशाजनक हार
  • हरिद्वार: हर की पौड़ी पर संपूर्ण विधि विधान के साथ अटल जी की अस्थियों का विसर्जन किया गया
  • कांग्रेस के निलंबित नेता मणिशंकर अय्यर की कांग्रेस में वापसी पर बीजेपी का हमला
  • कांग्रेस ने मणिशंकर अय्यर को निलंबित करके दिखावा किया

दसवीं की किताब से गायब हुए नेहरू-गांधी, सावरकर को पढ़ेंगे छात्र

पणजी: भारतीय जनता पार्टी पर इतिहास बदलने और इसके साथ छेड़छाड़ का बड़ा आरोप लगा है। यह आरोप गोवा कांग्रेस की छात्र इकाई के नेता ने सरकार पर लगाया है। छात्र नेता के अनुसार बीजेपी ने इतिहास बदलने की कोशिश के चलते दसवीं की किताब से नेहरु की तस्वीर को हटाया है।

बतादेंब कि पूरा मामला गोवा शिक्षा बोर्ड से जुड़ा हुआ है। यहाँ दसवीं कक्षा की सामाजिक विज्ञान की किताब में पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू को हटाकर उसकी जगह पर सावरकर की तस्वीर छापने का सनसनीखेज आरोप कांग्रेस पार्टी की छात्र इकाई ने लगाया है। कांग्रेस पार्टी की प्रदेश छात्र इकाई (NSUI) अध्यक्ष अहराज मुल्ला ने मीडिया से बात करते हुए कहा, "यह बहुत दुख की बात है कि गोवा शिक्षा प्राधिकरण की पाठ्य पुस्तक से पंडित नेहरू की तस्वीर हटा दी गई और अपनी रिहाई के लिए अंग्रेजों को माफीनामा देने वाले सावरकर की तस्वीर लगा दी गई है।

Source ANI

कांग्रेस की छात्र इकाई के नेता ने कहा, "कल, वे महात्मा गांधी की तस्वीरों को भी हटा देंगे और सवाल पूछेंगे कि कांग्रेस ने पिछले 60 सालों में क्या किया। दरअसल गोवा की बीजेपी सराकर पर आरोप लगा रहा है कि उसके इशारे पर सामजिक विज्ञान की किताब से पूर्व पीएम नेहरु की तस्वीर को हटाकर विनायक दामोदर सावरकर की तस्वीर लगा दी गई है। प्रेस वार्ता में नेशनल स्टूडेंट्स यूनियन ऑफ इंडिया यानी की (NSUI) नेता ने कहा, "उन्हें यह सुनिश्चित करना चाहिए कि वे उस इतिहास को नहीं बदलेंगे, जो हमें हमारे पूर्वजों ने दिया है और जिसमें लिखा है कि कांग्रेस ने गांधीजी के नेतृत्व में अंग्रेजों से लड़कर भारत को स्वतंत्रता दिलाई है'।

भावी पीएम इमरान ने कश्मीर पर भारत को दिखाई आँख: कहा जवाब में उठाएंगे दो कदम

अधर में बुलेट ट्रेन: महाराष्ट्र के टैक्स से गुजरात का हो रहा विकास?

लेकिन उन्होंने इतिहास को बदलना शुरू कर दिया है। वहीँ नेहरु और कांग्रेस की आजादी में लड़ाई को छुपाना चाहते हैं। दरअसल यह मामला तब सामने आया है जब 'भारत और समकालीन विश्व भाग-2 (लोकतांत्रिक राजनीति)' नाम की कक्षा दस में पढ़ाई जाने वाली पुस्तक के नये संस्करण में 68वें पृष्ठ पर छपी नेहरू, महात्मा गांधी और मौलाना आजाद की तस्वीर हटाकर उसी पेज पर सावरकर की रंगीन तस्वीर छापी गयी है। जिसके बाद से इसको लेकर विवाद जारी है।  

यह भी देखें-

 

loading...