Breaking News
  • दोपहर बाद देश भर में केंद्रीय कार्यालय और सभी सरकारी उपक्रम बंद रहेंगे
  • अटल जी के सम्मान में 22 अगस्त तक आधा झुका रहेगा राष्ट्रध्वज
  • पूर्व प्रधानमंत्री अटल जी का निधन, सम्मान में 7 दिन का राष्ट्रीय शोक
  • अटल जी का अंतिम संस्कार राजघाट के निकट स्‍मृति स्‍थल पर पूरे राजकीय सम्‍मान के साथ

पुलिस स्टेशन में जल्द दर्ज करवाना चाहते है एफआईआर, तो बोलो ये शब्द

नई दिल्ली:- अधिकतर आपने देखा होगा की जब किसी व्यक्ति के साथ कुछ गलत होता है, तो वह सबसे पहले पुलिस की मदद मांगता है लेकिन पुलिस के पास जाने के बाद पुलिस कई बार व्यक्ति की शिकायत लिखने से मना कर देती है और आपको निराशा के अलावा कुछ नही मिलता है।

इस एक्ट्रेस को मीका ने किया था ऐसा किस- अब किसिंग से लगता है डर, पीनी पड़ी शराब...

कभी आपके साथ भी ऐसा हुआ होगा लेकिन अब इस समस्सया का हल हम निकाल कर लाए है पुलिस वाले आपकी FIR लिखने से मना नही कर सकते मना करे तो बस आपको एक शब्द बोलना पड़ेगा और वह शब्द है जीरो FIR अगर आप थाने में जाकर बोलेंगे की जीरो FIR दर्ज करवानी तो कोई शिकायत लिखने से मना नही कर सकता।

आपको बता दे जीरो FIR सिटिजन को काफी सुविधा प्रदान करती है देखा जाए तो कई लोग ऐसे है जिनको इसके बारे में पता नही है आज हम आपको बताएगे की जीरो FIR क्या होती है और पुलिस वाले दर्ज करने से मना क्यों नही कर सकते।

वो जिसने दूसरे विश्वयुद्ध की ख़बर दी अब नहीं रही...

जीरो FIR में किसी भी क्षेत्र की सीमा नहीं देखी जाती मतलब कहा क्राइम हुआ है पुलिस को इससे कोई मतलब नही उन्हें हर हालत में केस दर्ज करना पड़ता है सबसे पहले आपकी रिपोर्ट दर्ज होती है उसके बाद ही ज्यूरिडिक्शन वाले पुलिस थाने में  फॉरवर्ड कर दिया जाता है।

यह सुविधा सभी के लिए लागू है ताकि सभी को न्याय मिल सके और ज्यूरिडिक्शन के कारण किसी को न्याय मिलने में देरी न हो इस सुविधा से आम इन्सान को न्याय मिलकर ही रहेगा जानकारी के अनुसार FIR का सिलसिला दिसंबर 2012 में निर्भया केस के बाद से शुरू हुआ।

अंडरवियर नहीं पहनती बॉलीवुड की यह अभिनेत्रियां, जानिए क्यों!

निर्भया केस ने तो पुरे देश में हंगामा मचा दिया यहाँ तक की सिटिजन भी सड़क पर उतर आए थे उसके बाद जस्टिस वर्मा और कमेटी रिपोर्ट की रिकमंडेशन के आधार पर ही एक्ट में नए प्रोविजन जोड़े गए इस खबर को पड़ने के बाद आप दुसरो को भी यह जानकरी दे ताकि सबको न्याय मिल सके।

loading...