Breaking News
  • बिहारः मुठभेड़ में खगड़िया के पसराहा थाना अध्यक्ष आशीष कुमार सिंह शहीद
  • J-K: पुलवामा में सुरक्षा बलों ने हिजबुल के एक आतंकी को मार गिराया
  • दिल्ली में आज पेट्रोल की कीमत 82.66 रुपए प्रति लीटर, डीजल 75.19 रुपए प्रति लीटर
  • J-K:स्थानीय निकाय चुनाव के लिए तीसरे चरण की वोटिंग जारी

इस लेखिका ने बोल्ड शब्दों में बताया पति के साथ सबंधों की गाथा!

नई दिल्ली: भारत की एक मशहूर लेखिका कमला दास की आत्मकथा आज ही के दिन एक फरवरी 1976 को प्रकाशित हुई थी। इस खास अवसर पर Google ने खास Doodle डूडल के जरिए लेकिका को याद किया है। कमला दाश के मलयालम लेखिका थी, जिनका जन्म 31 मार्च 1934 को और निधन 31 मई 2009 को हुआ था।

कमला दास की आत्म कथा ‘माई स्‍टोरी’ अंग्रेजी अनुवाद है, जिसे एक फरवरी को प्रकाशित किया गया था। लेखिका ने इस किताब को मलयालम भाषा में लिखा था, जिसका नाम 'एंते कथा' था। बता दें इस किताब में लेखिला ने अपने जीवन से जुड़ी हर बातों का जिक्र बड़े ही बेवाक तरीके से किया है।

इस एक्ट्रेस को मीका ने किया था ऐसा किस- अब किसिंग से लगता है डर, पीनी पड़ी शराब...

ये कोई मामूली आत्‍मकथा नहीं बल्‍कि एक ऐसी महिला की सच्‍ची कहानी थी जिसकी किताब ने न सिर्फ भारत में बल्‍कि दुनिया भार में खलबली मचा दी था। उन्‍होंने अपनी कविताओं और किताब में पति के साथ अपने संबंधों का भी बेवाक तरीके से जिक्र किया था। इस किताब पर जितना विवाद हुआ उतनी ही लोकप्रिय भी हुई। लेखिका ने अपने किताब में पुरुष और महिला के संबंध से जुड़ी भावनाओं को बड़े ही बेवाक तरीके से वर्णन किया।

लेखिका जीवन कुछ ऐसा रहा है कि 15 साल की उम्र में इनकी शादी हुई और 16 साल की उम्र में मां बन गई। पारिवारिक जीवन को जीते हुए लेखिका अपने जीवन से लेखन कोस दूर नहीं कर सकी। रात में घरवालों के सोने के बाद वह रात भार किताबे लिखती रहती थी। आपको बता दें कि लेखिका के जीवन और इनके किताबों के आधारित एक मलयालम फिल्म 'आमी'  रिलीज होने वाली है। इस  फिल्म के लिए पहले बॉलीवुड एक्ट्रेस विद्या बालन को चुना गया था, लेकिन डायरेक्टर के साथ विवाद के बाद अब इस फिल्म में एक्ट्रेस मंजु वॉरियर कमला दास के में दिखेंगी।

जिया खान सुसाइड केस में सूरज पंचोली को 10 साल की जेल?

उन्होंने साल 1999 में धर्मांतरण कर अपने नाम से 'दास' हटाकर 'सुरय्या' लगा लिया। कमला दास की किताब 'माई स्‍टोरी'  में कुल 50 चैप्‍टर हैं, जिसमें उन्‍होंने अपनी जिंदगी के हर किस्से को सरल शब्दों और बेवाक अंदाज में पेश किया है। उन्‍होंने इस बता का भी जिक्र किया है कि किस तरह से कलकत्ता के मिशनरी स्‍कूल में उनके साथ नस्‍लीय भेदभाव हुआ। लेखिका ने अपने किताब में अपने करियर, एक्‍सट्रामैरिटल अफेयर, बच्‍चों के जन्‍म से लेकर पति के साथ संबंधों का भी जिक्र किया है।

इस एक्टर को पत्नी ने ही कराया गिरफ्तार- जाने क्या है बड़ा कारण...

loading...