Breaking News
  • मुंबई में भारी बारिश से जनजीवन प्रभावित, अगले 24 घंटे भारी बारिश की चेतावनी
  • पंजाब के संगरूर में पटाखा गोदाम में आग लगने से कम से कम 5 लोगों की मौत
  • मेक्सिको में आए भूकंप में स्कूली इमारतें ढहने से 21 बच्चों की हुई मौत: मीडिया
  • संयुक्त राष्ट्र की बैठक में ट्रंप ने कहा उत्तर कोरिया को पूरी तरह से करेंगे नष्ट

यूपी: शिक्षक दिवस पर शिक्षकों की पिटाई- मेहनत की कमाई मांगने वाले को खानी पड़ी लाठी!

लखनऊ: आज पांच सितंबर को देश भर में शिक्षक दिवस मनाया जाता है। इस दिन लोग अपने शिक्षकों को याद करते हुए बेहतरीन कसीदे पढ़ते है और अपने गुरु के सम्मान में नमन करते हैं। लेकिन बीजेपी शासित राज्य में शिक्षक दिवस पर जो नजारा दिखा है उसने तो इस दिन की परिभाषा ही बदल दी है। दरअसल खबर है कि यूपी की योगी सरकार ने शिक्षक दिवस के दिन शिक्षकों पर लाठीचार्ज कर रही है।

इस खबरों को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव समेत अन्य कई नेताओं ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए इसे गलत करारा दिया है। दरअसल मीडिया रिपोर्ट्स के हवाले से से बताया जा रहा है कि जब शिक्षा प्रेरक संघ के सैकड़ों शिक्षक 3 साल से वेतन ना मिलने से नाराज होकर प्रदर्शन कर रहे थे तब इनके उपर पुलिस ने लाठी चार्ज किया है।

लखनऊ मेट्रो: अखिलेश की शुरुआत, केंद्र का सहयोग और योगी की हरीझंडी

बताया जा रहा है कि प्रर्शन के दौरान शिक्षक विधानसभा का घेराव करने जा रहे थे, जिन्हें रोकने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज किया है। प्रदर्शन में कुछ महिला शिक्षक भी शामिल थी, जो पुलिस की लाठियां खाने के बाद घायलों में भी शामिल हैं। जिसमें से एक महिला शिक्षक के बेहोश होने की खबर है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार शिक्षा प्रेरक संघ के सैकड़ों शिक्षक परमानेंट जॉब और वेतन की मांग को लेकर लखनऊ विधानसभा के बाहर प्रदर्शन कर रहे थे।

आपको बता दें कि गांवों में सरकार की योजनओं को लोगों तक फैलाने के लिए इन प्रेरक शिक्षकों को संविदा पर नियुक्त किया जाता है, लेकिन शिक्षकों का आरोप है कि इन्हें पिछले तीन साल से वेतन ही नहीं दिया गया है। इसके साथ इन शिक्षकों की मांग है कि इनके नौकरी को सरकार परमानेंट बनाएं। मामले को लेकर ये शिक्षक पहले भी प्रदर्शन कर चुके है, लेकिन तब भी इन्हें वेतन के बदले लाठी ही खानी पड़ी थी।

इसे भी देखें!

loading...