Breaking News
  • बिहारः मुठभेड़ में खगड़िया के पसराहा थाना अध्यक्ष आशीष कुमार सिंह शहीद
  • J-K: पुलवामा में सुरक्षा बलों ने हिजबुल के एक आतंकी को मार गिराया
  • दिल्ली में आज पेट्रोल की कीमत 82.66 रुपए प्रति लीटर, डीजल 75.19 रुपए प्रति लीटर
  • J-K:स्थानीय निकाय चुनाव के लिए तीसरे चरण की वोटिंग जारी

ट्रेनिंग के दौरान केजरीवाल को हो गया था प्‍यार, ऐसा किया था प्रपोज

NEW DELHI:- अरविंद केजरीवाल एक ऐसा नाम है जो किसी पहचान का मोहताज नहीं है. देश ही नहीं बल्कि विदेशो में भी अरविन्द केजरीवाल को जाना जाता है. भारत की राजधानी दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल आज भी देश की परिस्थितियों के हिसाब से निर्णय ले कर जनता की तरह सोचते हुए अपना निर्णय लेते है जो दिल्ली की जनता को काफी अच्छा लगता है.

हरियाणा के हिसाल जिले में जन्म लेने वाले अरविन्द ने भ्रष्टाचार के खिलाफ अपनी आवाज उठाते हुए देश के लिए लड़ाई लड़ते हुए कब राजनीति में प्रवेश कर लिया खुद उन्हें भी मालूम नहीं पड़ा. राजनीति में तो प्रवेश करने के बाद ही वह राजधानी के मुख्यमंत्री भी बन गए.

गैंगस्टर ने दी सलमान को जान से मारने की धमकी!

अरविंद केजरीवाल के राजनीति के बारे में तो हर कोई जानता है की किस तरह राजनीति में प्रवेश कर वह दिली के मुख्यमंत्री बन गए. लेकिन बहुत कम व्यक्ति जानते है की अरविंद केजरीवाल की लव स्टोरी किसी थी. इस बारे में हर कोई जानना चाहता है.

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को अपने प्यार का इजहारे इश्क करने में काफी समय लगा था. हम आपकी जानकारी के लिए बता दे की उनका प्यार और कोई नहीं उनकी पत्नी सीमा केजरीवाल ही थीं. जिन्हे वह बेइंतेहा प्यार करते है.

अरविन्द केजरीवाल को प्यार नागपुर में आईआरएस की ट्रेनिंग के दौरान हुआ था. उस समय उनके दिल में प्यार का बीज अंकुरित हुआ था. आईआरएस की ट्रेनिंग के दौरान ही केजरीवाल की मुलाकात सुनीता से हुई थी. उन दिनों वह एक दूसरे को काफी पसंद करने लगे थे.

कृष्ण जैसा रूप धर गीता पाठ करने वाली आलिया पर जारी हुआ फतवा...

हालांकि काफी समय साथ रहने के बावजूद भी अरविंद केजरीवाल सुनीता को प्रोपोज करने की हिम्मत नहीं कर पाए थे. उनका प्यार बहुत ही सच्चा था तो दुरी भी थी. अंत में दोनों से बर्दाश्त नहीं हुआ और एक दिन अचानक दोनों ने काफी हिम्मत कर ट्रेनिंग एकेडमी के गार्डन में ही प्रपोज कर दिया.

अरविंद केजरीवाल की हर बात को स्पष्ट तरह से रखने की बात और उनकी काबिलियत पर सुनीता कायल हो गई थी. सुनीता का सपना था की उसका हमसफ़र ईमानदार होने के साथ देश की सेवा करते हुए इसी काम को अधिक प्राथमिकता देने वाला हो.

जिस तरह के सपने सुनीता ने अपने हमसफ़र के लिए देखे थे वह सभी गुण अरविंद में भरपूर थे. दोनों ने शादी करने का फैसला करते हुए एक दूसरे को अपना जीवनसाथी चुना इस निर्णय से उनके परिवार वाले भी काफी खुश थे.a

loading...