Breaking News
  • सौदे की सीबीआई जांच की मांग वाली याचिकाएं सुप्रीम कोर्ट में खारिज
  • राफेल की गुणवत्ता पर सवाल नहीं, कीमत जानना जरूरी नहीं : सीजेआई
  • राज्यसभा की कार्यवाही दिनभर के लिए स्थगित
  • पर्थ टेस्ट: ऑस्ट्रेलिया ने जीता टॉस, पहले बल्लेबाजी का फैसला

सीबीएसई: दसवीं बोर्ड का परिणाम घोषित, इस छात्र ने किया टॉप

नई दिल्ली: देशभर के करीब 16 लाख से ज्यादा स्टूडेंट का इंतजार खत्म हो गया है। मंगलवार को केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड यानी की सीबीएसई दसवीं बोर्ड का परिणाम जारी कर दिया है। इसबार 86.7 प्रतिशत छात्र पास हुए हैं।

बतादें कि मंगलवार को आखिरकार सीबीएसई बोर्ड के दसवीं के स्टूडेंट का कई दिनों का इंतजार खत्म ही हो गया है। मंगलवार तय समय से पहले ही सीबीएसई बोर्ड के दसवीं के स्टूडेंट्स का परिणाम जारी कर दिया गया है। इस सीबीएसई कि दसवीं की परीक्षा में 16 लाख के ज्यादा स्टूडेंट्स शामिल हुए थे। वहीँ मंगलवार को आये परिणाम ने वहीँ मुकाम हासिक किया है जो अभी तक सीबीएसई हासिल करता आया है। मंगलवार को जारी हुए परिणाम में 86.7 फीसद स्टूडेंट्स पास हुए हैं। जिसमें इसबार भी छात्राओं ने बाजी मार ली है। परीक्षा में पास होने के मामले में लडकों की अपेक्षा लडकियों की संख्या अधिक है।

पंजाब: जेल में बंद कैदी ने फेसबुक लाइव कर दी सीएम को जान से मारने की धमकी

आंकड़ों की माने तो लड़कियों का पास प्रतिशत 88.67 फीसदी और लडकों का 85.32 फीसद रहा है। परिणाम जारी होने को लेकर मानव संसाधन मंत्रालय के सचिव अनिल स्‍वरूप ने ट्वीट के जानकारी साझा की। इससे पहले शाम के चार बजे परिणाम जारी किये जाने की खबर थी, लेकिन शाम होने से पहले ही परिणाम बोर्ड की साईट पर जारी कर दिया गया है। वहीँ इस बार सीबीएसई दसवीं के बोर्ड में गुरुग्राम के प्रखर मित्तल ने 499 अंकों के साथ पहला स्थान प्राप्त किया है। इससे तीन दिन पहले सीबीएसई ने 12वीं बोर्ड परीक्षा का परिणाम जारी किया था।

अबतक का सबसे बड़ा पेयजल संकट, जनता से लेकर जज तक पानी को हुए मोहताज!

परीक्षा परिणाम देखने के लिए सीबीएसई की आधिकारिक वेबसाइट cbse।nic।in और cbseresults।nic।in अपना रोल नंबर डाल कर परिणाम देखा जा सकता है। यहीं से परिणाम की कॉपी डाउनलोड और प्रिंट भी की जा सकती है।

विवादों में रही थी परीक्षा   

इससे पुर्व सीबीएसई की बारहवीं और दसवीं की बोर्ड परीक्षा काफी विवादों में गुजरती थी। पेपर से पूर्व ही दसवीं और बारहवीं के कई प्रश्न पत्र लीक हो गये थे। जिसके चलते बारहवीं के स्तेदेंत को एक पेपर के लिए पुनः परीक्षा देनी पड़ी थी। हालाँकि दसवीं की पेपर लीक का ज्यादा असर नहीं हुआ था। दसवीं की बोर्ड परीक्षा में 16,38,428 छात्र शामिल हुए थे।

यह भी देखें-

loading...