Breaking News
  • चार धाम यात्रा: छह महिने के बाद खुले केदारनाथ धाम के कपाट, कल खुलेंगे बद्रीनाथ के कपाट
  • वो (ममता) अब मेरे लिए पत्थरों और थप्पड़ों की बात करती हैं: मोदी
  • पश्चिम बंगाल के बांकुरा में पीएम मोदी की चुनावी रैली, ममता पर बोला हमला
  • नवज्योत सिंह सिद्धू मुख्यमंत्री बनना चाहते हैं: पंजाब सीएम अमरिंदर सिंह
  • ओमप्रकाश राजभर को तुरंत बर्खास्त करने के लिए सीएम योगी ने की राज्यपाल से सिफारिश
  • ब्रेग्जिट समझौते को संसद से पारित कराने के लिए एक नया मसौदा लाएंगे: Theresa May
  • ज्यादातर एक्जिट पोल्स में भाजपा की अगुवाई में एनडीए सरकार की फिर से वापसी की संभावना

इस साल अलग तरीके से होगी CBSE परीक्षा, जानिए नये 'कायदे-कानून'

नई दिल्ली: केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड या सीबीएसई ने इस साल की परीक्षा से अपने पैटर्न में कुछ जरूरी बदलाव करने के फैसला किया है। जानकारों की माने तो बोर्ड द्वारा किए गए बदलान स्टूडेंट फ्रेडली है, जिसके कारण बच्चों पर परीक्षा का दवाब कम हो सकता है। कम शब्दों में कहे तो पहले के मुकाबले परीक्षा थोड़ी आसाम हो सकती है।

इससे पहले आपको बता दें कि इस साल 15 फरवरी से सीबीएसई की 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षा शुरू हो रही हैं। परीक्षा का समय अन्य सालों की तुलना में थोड़ा पहले है, लिहाजा कुछ छात्रों में घबराहट है कि परीक्षा की तैयारी के लिए कम समय मिला है। हालांकि नये पैटर्न को समझने के बाद परीक्षार्थियों को थोड़ राहत जरूर मिल सकती है।

कैसा होगा नया पैटर्न

बताया जाता है कि इस बार ऑब्जेक्टिव टाइप प्रश्नों की संख्या अधिक होगी, साथ ही प्रश्नों के विकल्प भी बढ़ाए गए हैं। एक अधिकारी के अनुसार अब से पहले करीब 10 प्रतिशत प्रश्न ऑब्जेक्टिव टाइप होते थे, लेकिन अब करीब 25 फीसदी प्रश्न ऑब्जेक्टिव टाइप होंगे।

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय अल्पसंख्यक संस्थान का दर्जा, सात सदस्यीय पीठ करेगी फैसला

वहीं अगर कोई छात्र किसी प्रश्न को लेकर कॉन्फिडेंट नहीं है तो उसके पास करीब 33% प्रश्न विकल्प के तौर पर मौजूद होंगे। जिसे छात्र अपने अनुसार चुन कर अपनी परेशानी कम कर सकते हैं।

इसके असाला एक प्रमुख बदलाव हो रहा है कि इस बात छात्रों को पहले के मुकाबले अधिक व्यवस्थित प्रश्नपत्र मिलेंगे। बताया जाता है कि हर पेपर में कई सब सेक्शन्स होंगे। जैसे की कम नंबर वाले सभी ऑब्जेक्टिव टाइप प्रश्न एक सेक्शन में, अधिक अंकों वाले प्रश्न एक दूसरे सेक्शन में होंगे। इससे छात्रों को यह तय करने में आसानी होगी कि उन्हों पहले कैन सा सेक्शन करना है।

मुख्य बातें

परीक्षा साढ़े 10 बजे से शुरू होगी, लेकिन सभी परीक्षार्थियों के लिए परीक्षा शुरू होने से आधे घंटे पहले यानी 10 बजे तक पहुंचना अनिवार्य कर दिया गया है। इसके बाद किसी भी परीक्षार्थी को प्रवेश नहीं दिया जाएगा।

सभी छात्रों के यह जरूरी है कि वे स्कूल यूनिफॉर्म में हो, सिर्फ उन्हें ही प्रवेश दिया जाएगा जो सभी शर्तों का पालन करेंगे।

प्रवेश पत्र पर स्टूडेंट्स और प्रिंसिपल के साथ ही अभिभावकों के भी हस्ताक्षर जरूरी होंगे।

कन्फर्म! पीएम मोदी की बायोपिक में अमित शाह का किरदार निभा रहा है ये एक्टर

परीक्षा के दौरान छात्र अपने साथ सिर्फ कलम, प्रवेश पत्र और पारदर्शी बैग ही लेकर जा सकेंगे।

डायबिटीज के रोगियों को स्नैक्स ले जाने की इजाजत होगी।

किसी भी हालत में कोई लिखित सामग्री, मोबाइल, पर्स और स्मार्टवॉच ले जाने की इजाजत नही है।

परीक्षा केंद्रों पर जिन परीक्षा नियंत्रकों को गोपनीय दस्वावेज संभालने की जिम्मेदारी होती है, उनकी रियल टाइम ट्रैकिंग की जाएगी ताकि पेपर लीक होने से बचा जा सके।

मोदी की बायोपिक में जशोदाबेन का रोल निभाने वाली एक्ट्रेस कौन है, तस्वीर वायरल

loading...