Breaking News
  • केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने नई metrorailpolicy को मंजूरी दी
  • मध्यप्रदेश: स्थानीय निकाय चुनाव में BJP की जीत
  • केरल के कथित धर्मांतरण मामले की जांच NIA के हवाले: सुप्रीम कोर्ट
  • दिल्ली, यूपी समेत कई राज्यों में फैला स्वाइन फ्लू- अबतक 600 लोगों की मौत
  • सिंचाई परियोजनाओं के लिए 9,020 करोड़ रुपए की अतिरिक्त राशि मंजूर
  • अमेरिका ने हिजबुल मुजाहिदीन को विदेशी आतंकी संगठन घोषित किया

नये भारत की नई तस्वीर- चौकिए मत पूरी खबर पढ़िए

भोपाल: मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल स्थित केन्द्रीय जेल इन दिनों विवादों में घिरा है। दरअसल राखी वाले दिव यहां जेल में बंद कैदियों से मुलाकात करने आये लोगों में से दो बच्चों के चेहरों पर जेल प्रशासन ने जेल की मुहर लगा दी, हालांकि विवाद बढ़ने के बाद जेल प्रशासन ने उस महिला सुरक्षाकर्मी को निलंबित कर दिया दिया है, जिसने बच्चे के चेहरे पर मुहर लगा दी थी।

जेल प्रशासन के अनुसार जेल में परिजनों को कैदियों से मिलने से पहले पहचान चिन्ह के तौर पर इस तरह की मुहर हाथ पर लगाई जाती है, ताकि कोई कैदी भीड़ का फायदा उठाकर बाहर न निकल जाये। लेकिन किसी के चेहरे पर मुहर लगाने का कोई प्रावधान ही नहीं है। महिला कर्मचारी की इस हरकत को लेकर जेल प्रशासन ने कहा कि बच्चों के गालों पर मुहर लगाने के मामले में प्रथम दृष्ट्या लापरवाही पायी गई है।

प्रशासन के अनुसार उसी ने इन दोनों बच्चों के चेहरे पर मुहर लगाई थी। लेकिन यह दुर्भावना से नहीं लगाई गई थी। जेल में सोमवार को जेल कैदियों से मुलाकात करने आये दो बच्चों के चेहरों पर मुहर लगाने के मामले में महिला प्रहरी रश्मि प्रजापति को निलंबित कर दिया गया है।

मामले पर जेल पुलिस महानिरीक्षक संजय चौधरी ने बताया कि आरोपी महिला कर्मचारी को निलंबित किया गया है, यह दुर्भावना से नहीं लगाई गई थी, उन्होंने बताया कि मामले की विभागीय जांच होगी। बता दें कि मीडिया में बच्चों की तस्वीरें आने के बाद मध्यप्रदेश मानवाधिकार आयोग ने भी जेल प्रशासन को नोटिस जारी कर जवाब तलब किया है।

 

loading...

Subscribe to our Channel