Breaking News
  • MSG कंपनी के सीईओ सीपी अरोड़ा गिरफ्तार, हनीप्रीत को फरार करने का आरोप
  • नोटबंदी की बदौलत 2 लाख से ज्यादा फ़र्ज़ी कंपनियां हुई बंद: पीएम
  • राष्ट्रीय आयुर्वेद दिवस के अवसर पर अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्थान का लोकार्पण
  • स्पेन,पुर्तगाल में लगी आग से 35 लोग मारे गए, स्थिति अभी भी भयावह

नये भारत की नई तस्वीर- चौकिए मत पूरी खबर पढ़िए

भोपाल: मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल स्थित केन्द्रीय जेल इन दिनों विवादों में घिरा है। दरअसल राखी वाले दिव यहां जेल में बंद कैदियों से मुलाकात करने आये लोगों में से दो बच्चों के चेहरों पर जेल प्रशासन ने जेल की मुहर लगा दी, हालांकि विवाद बढ़ने के बाद जेल प्रशासन ने उस महिला सुरक्षाकर्मी को निलंबित कर दिया दिया है, जिसने बच्चे के चेहरे पर मुहर लगा दी थी।

जेल प्रशासन के अनुसार जेल में परिजनों को कैदियों से मिलने से पहले पहचान चिन्ह के तौर पर इस तरह की मुहर हाथ पर लगाई जाती है, ताकि कोई कैदी भीड़ का फायदा उठाकर बाहर न निकल जाये। लेकिन किसी के चेहरे पर मुहर लगाने का कोई प्रावधान ही नहीं है। महिला कर्मचारी की इस हरकत को लेकर जेल प्रशासन ने कहा कि बच्चों के गालों पर मुहर लगाने के मामले में प्रथम दृष्ट्या लापरवाही पायी गई है।

प्रशासन के अनुसार उसी ने इन दोनों बच्चों के चेहरे पर मुहर लगाई थी। लेकिन यह दुर्भावना से नहीं लगाई गई थी। जेल में सोमवार को जेल कैदियों से मुलाकात करने आये दो बच्चों के चेहरों पर मुहर लगाने के मामले में महिला प्रहरी रश्मि प्रजापति को निलंबित कर दिया गया है।

मामले पर जेल पुलिस महानिरीक्षक संजय चौधरी ने बताया कि आरोपी महिला कर्मचारी को निलंबित किया गया है, यह दुर्भावना से नहीं लगाई गई थी, उन्होंने बताया कि मामले की विभागीय जांच होगी। बता दें कि मीडिया में बच्चों की तस्वीरें आने के बाद मध्यप्रदेश मानवाधिकार आयोग ने भी जेल प्रशासन को नोटिस जारी कर जवाब तलब किया है।

 

loading...