Breaking News
  • आज होगा योगी सरकार के कैबिनेट का विस्तार, नए चेहरों को मिल सकती है जगह
  • G7 शिखर सम्मेलन में अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने की पीएम मोदी से कश्मीर मुद्दे पर वार्ता की पेशकश
  • MP के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर का निधन, राज्य में तीन दिवसीय शोक की घोषणा की
  • INX मीडिया मामले में चिदंबरम पर लटकी गिरफ्तारी की तलवार, कुछ देर में SC में सुनवाई

आखिर क्यों पूरे देश को मांसाहारी बनाना चाहते थे 'बापू' , पढ़िए पूरी खबर

नई दिल्ली : 'बापू' जिनकों हम मोहन दास करमचंद्र गांधी भी कहते हैं। जिनका जन्म गुजरात के पोरबंदर में 2 अक्टूबर 1869 को पोरबंदर हुआ था। जिस कारण हम इस तिथि को गांधी जयंती मनाते हैं। आप सभी जानते हैं कि गांधीजी का जीवन बहुत ही सादा था। वे शाकाहरी भोजन करते थे। लेकिन वे देश को मांसाहारी बनाना चाहते थे।

भारत का एक ऐसा गांव जहां कुत्ते के नाम पर मिलता हैं राशन, नाम जानकर आप भी हो जाएंगे हैरान

अब आपके मन में एक प्रश्न उठता होगा कि जब बापू खुद शाकाहारी थे वे देश को मांसाहारी क्यों बनाना चाहते थे। इसका जवाब आपको महात्मा गांधी द्वारा लिखित पुस्तक ' माई एक्सपेरिमेंट विथ ट्रूथ' में मिलेगा। जिसमें उन्होंने इस बात को स्वीकारा हैं। उन्होंने कहा हैं कि जब हमारे देश पर अंग्रेजों द्वारा बहुत ही अत्याचार किए जा रहें थे उस समय देश को आजाद कराने के लिए मन में अनेकों ख्याल आते थे।

OMG : कुत्ते ने की ड्राइविंग तो पुलिस ने लगाया जुर्माना, देखिए VIDEO

उसी समय मेरे एक मित्र ने कहा कि अगर तुम मांसाहारी भोजन का सेवन करते हैं तो तुम शक्तिशाली बनोगे। जिस प्रकार अंग्रेज मांसाहारी भोजन का सेवन करते हैं तो वो अपनी ताकत हम पर दिखाते हैं तो तुम उस ताकत को अंग्रेजों के खिलाफ इस्तेमाल करना। इस बात का जिक्र मेरे सामने कई बार किया गया तो मैंने भी इस बात को सत्य मान लिया कि मांसाहार के सेवन से ही हम बलवान और साहसी हो सकते हैं। इसलिए उन्हें न सिर्फ खुद बल्कि पूरे देश को मांसाहारी बनाने की ठानी।

एक बार फिर कहर बरपाती नज़र आ रहीं है मोनालीसा, कराया ऐसा फोटोशूट जिसे देखकर आप भी...

उन्होंने अपने उस मित्र की सहायता से कई बार अपने माता-पिता से छिपकर मांसाहार का भी सेवन किया। क्योंकि उनके माता - पिता मांसाहार के विरूद्ध थे। बाद में अपनी अपराधबोध का ज्ञान होने का बाद बापू ने मांसाहार को सदैव के लिए त्याग दिया। आपको बता दे कि बापू को मांसाहार बनने का ख्याल तब आया जब वो हाईस्कूल में पढ़ते थे, जिस समय उनके दिमाग में पहली बार देश को अंग्रेजों से आजाद कराने की बात आई थी।

इस गाने से इंटरनेट पर छाया ‘यो यो’ का जादू, 'उर्वशी' का आया नया वर्जन  

loading...