Breaking News
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भुवनेश्वर दौरे पर
  • चक्रवाती तूफान DAYE ने ओडिशा के गोपालपुर तट पर दी दस्तक

कोर्ट ने लगाई LG की लगाई क्लास: 25 बैठक, 50 कप चाय पर काम क्या हुआ?

नई दिल्ली: राजधानी कूड़े के बम पर बैठी हुई है। जिसको लेकर सुप्रीम कोर्ट भड़का हुआ है। दिल्ली में कचरा प्रबंधन के लिए उठाये जा रहे कदम भी नाकाफी साबित हो रहे हैं, जिससे एकबार फिर से सुप्रीम कोर्ट ने LG को फटकार लगा दी है।

दरअसल राजधानी दिल्ली में कचरा प्रबंधन को लेकर सुप्रीम कोर्ट सख्त रवैया अपनाए हुए हैं। ऐसे में सुप्रीम कोर्ट केंद्र सरकार और उपराज्यपाल द्वारा अभी तक उठाये गये कदमों की समय समय पर रिपोर्ट मांग देता है। ख़बरों के अनुसार गुरुवार को भी सुप्रीम कोर्ट ने कचरा प्रबंधन पर ही कार्रवाई को लेकर उपराज्यपाल अनिल बैजल से स्टेटस रिपोर्ट मांगी है। जिसपर उपराज्यपाल बैजल ने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दायर कर कहा कि इस पर बैठके जारी हैं। साथ ही इसके लिए उन्होंने निगम को जिम्मेदार बताया। उपराज्यपाल द्वारा दायर किये गये हलफनामे में कहा गया है कि कचरा प्रबंधन के लिए नगर निगम जिम्मेदार है, हम इसपर लगातार बैठक कर रहे हैं। लेकिन उपराज्यपाल की ओर से इस दलील पर सुप्रीम कोर्ट ने नाराजगी जताई है।

इस बड़ी सीट से मायावती लड़ेंगी लोकसभा चुनाव, बीजेपी की हवा टाईट!

कोर्ट इससे असंतुष्ट होते हुए कहा कि आप 25 बैठक करते हैं या 50 कप चाय पीते हैं, इससे हमें मतलब नहीं है। अपने अभी तक किया क्या है? यह बताइए? दरअसल दिल्ली में कूड़े के ढेर की बड़ी समस्या है। दिल्ली में बड़े बड़े कूड़े के ढेर लोगों के लिए मुसीबत से कम नहीं है। जहाँ क्षेत्र में हवा दूषित होती है तो कई बार इनसे हादसे हो चुके हैं।

राहुल के 'भाई' की जान लेना चाहता था दाऊद का शूटर, अबू धाबी से गिरफ्तार

ऐसे में कचरा निस्तारण नहीं किया गया तो दिल्ली जल्द ही कूड़े के ढेर में तब्दील हो जाएगी। वहीँ इस मामले में कोर्ट ने केजरीवाल को बड़ी राहत देते हुए टिप्पणी की है इस मामले में मुख्यमंत्री न न घसीटा जाए। फिलहाल केंद्र और उपराज्यपाल यह एक्शन की टाइमलाइन बताएं, 25 बैठक हुई हैं या 50 कप चाय पी है इससे हमें मतलब नहीं। आप एलजी हैं, आपने बैठक की है इसलिए हमें टाइमलाइन और स्टेटस रिपोर्ट दें कि दिल्ली से कूड़े के ढेर कब तक हटेंगे।

यह भी देखें-

 

 

loading...