Breaking News
  • सोनभद्र जाने पर अड़ी प्रियंका गांधी, धरने का दूसरा दिन
  • असम और बिहार में बाढ़ से 150 लोगों की गई जान, 1 करोड़ से अधिक लोग प्रभावित
  • इलाहाबाद हाइकोर्ट ने पीएम मोदी को जारी किया नोटिस, 21 अगस्त को सुनवाई
  • कर्नाटक पर फैसले के लिए अब सोमवार का इंतजार

111 साल के इस शख्स ने डाला वोट, नहीं पता आम आदमी पार्टी

नई दिल्ली : कहा जाता हैं कि अगर आपको अपने देश से सच्चा लगाव हैं तो आप खुद ब खुद कुछ ऐसा काम करेंगे जिससे लोग आपको जानने को मजबूर हो जाएंगे। 111 साल के उम्र में भी ऐसा जज्बा जिसे देखकर आप भी उनके इस जज्बे को सलाम करेंगे। इस बूढी आंखों में सपना है सशक्त सरकार का। ये नहीं जानते कि कोई आम आदमी पार्टी भी दिल्ली के चुनावी मैदान में है। वे तो बस ये जानते हैं कि आज भी ये मुकाबला कांग्रेस और बीजेपी में है।

एक तरफ जहां नवयुवा पीढ़ी में देश में हो रहें महापर्व के प्रति निराशाजनक रवैया देखा जाता हैं, वहीं आज भी बुजुर्गों में इस महापर्व में के प्रति उत्साह देखा जा सकता है। जो खुद चलने में सक्षम नहीं है लेकिन फिर भी हौसला ऐसा कि अच्छे – अच्छे के पसीने छूट जाएं। यहीं करनामा कर दिखाया है दिल्ली के सबसे उम्रदराज वोटर बच्चन सिंह ने। 111 साल के बच्चन सिंह ने इस बार भी अपना वोट डालकर यह दिखा दिया कि वे मतदान के प्रति कितने जागरुक हैं। अपने वोट के जरिए उन्होंने यह बताने की कोशिश की कि लेकतंत्र के लिए वोट देना कितना जरूरी है।

आपको बता दें कि बच्चन सिंह दिल्ली के तिलक विहार क्षेत्र के रहने वाले है। जो दिल्ली के सबसे उम्रदराज़ वोटर है। बच्चन सिंह ने रविवार यानी 12 मई को तिलक विहार के बूथ पर मतदान किया। वे साल 1951 से लगातार वोट डाल रहें हैं।  

बच्चन सिंह के बेटे जसबीर सिंह के अनुसार उनके पिता ने सभी चुनाव में अपना वोट डाला है। वह साल 1951 से लगातार वोट डाल रहे हैं। वोट डालने के बाद बच्चन सिंह ने कहा, ''मैंने उन्हें वोट डाला जिन्होनें मेरे लिए काम किया।''

 

उनके बेटे जसबीर ने बताया, ''वह हमेशा मानते हैं कि दिल्ली में बीजेपी और कांग्रेस के बीच मुकाबला है। उन्हें ये नहीं मालूम की दिल्ली में आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार भी चुनावी मैदान में अपनी किस्मत आजमा रहे हैं।''

जसबीर सिंह ने बताया, ''कुछ साल पहले तक वह वोट डालने में किसी की मदद नहीं लेते थे। वह खुद ही अपना खाना बनाते थे और अपना ज्यादा से ज्यादा समय गुरुद्वारा में सेवा करने के दौरान बिताते थे। कुछ महीने पहले उनके पिता को लकवा ने अटैक किया था। इस अटैक के बाद उन्हें अब सबकुछ याद नहीं रहता ।''

आपको बता दें कि देश में रविवार यानी 12 मई को लोकसभा चुनाव के छठे चरण का चुनाव हो रहा है। जिसमें कुल 7 राज्यों के 59 सीटों पर वोट डालें जा रहें है। अंतिम चरण का चुनाव 19 मई को होगा। जिसका परिणाम 23 मई को आएगा।

loading...