Breaking News
  • कोलकाता में ममता की महारैली में जुटा मोदी विरोधी मोर्चा, केजरीवाल, अखिलेश समेत 20 दिग्गज नेता
  • रूसी तट के पास गैस से भरे 2 पोत में आग लगने से 11 की मौत, 15 भारतीय भी थे सवार
  • जम्मू-कश्मीर: भारी बर्फबारी के बीच सुरक्षाबलों का ऑपरेशन ऑल आउट, 24 घंटे में 5 आतंकी ढेर
  • वाराणसी: 15वे प्रवासी सम्मेलन में पीएम मोदी, लोग पहले कहते थे कि भारत बदल नहीं सकता. हमने इस सोच को ही बदल डाला
  • नेपाल ने लगाया 2000, 500 और 200 रुपए के भारतीय नोटों पर बैन

दिल्ली कांग्रेस की अध्यक्ष बनी शीला दीक्षित, आप से गठबंधन पर...

नई दिल्ली: दिल्ली के सियासी गलियारों में आम आदमी पार्टी और कांग्रेस पार्टी के बीच गठबंधन की चर्चा एक बार फिर से चल रही है। हालांकि कांग्रेस पार्टी खुद के दम पर चुनाव लड़ने को तैयर है, लेकिन आम आदमी पार्टी की माने तो भाजपा को हराने के विपक्ष को गठबंधन करना चाहिए।

आपको बता दें कि ऐसी चर्चा पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के कांग्रेस अध्यक्ष बनने के बाद और भी तेज हो गई है। हालांकि आम आदमी पार्टी से गठबंधन के सवाल पर ऐसी कोई योजना नहीं है। जबकि इससे पहले उन्होने कहा था कि इसपर हाईकमान फैसला लेगा। वहीं दिल्ली कांग्रेस प्रभारी पीसी चाको ने भी आप के साथ गठबंधन से इनकार कर दिया है।

वहीं आम आदमी पार्टी की माने तो शीला दीक्षित के हाथों में एक बार फिर से दिल्ली कांग्रेस की कमान देना कांग्रेस के नेतृत्व संकट का सबूत दे रही है। आप नेता ने कहा कि हमने कांग्रेस के खिलाफ कई आंदोलन किया, लेकिन आज सभी विपक्षी पार्टियों के सामने बीजेपी को हराने की चुनौती है, जिसे गठबंधन कर आसान किया जा सकता है।

जबकि आप-कांग्रेस के गठबंधन की खबरों पर प्रतिक्रिया देते हुए दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी ने आप संयोजक और दिल्ली के मुख्यमनंत्री अरविंद केजरीवाल पर हमला बोलते हुए कहा कि, उन्हें बताना चाहिए कि कांग्रेस से दोश्ती है या दुश्मनी। आपको बता दें कि हाल ही में आप से गठबंधन के खिलाफ रहे दिल्ली कांग्रेस के अध्यक्ष अजय माकन से इस्तीफा दे दिया था।

जिसके बाद शीला दीक्षित को दिल्ली प्रदेश कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया गया है। साल 1998 से 2013 तक लगातार दिल्ली की मुख्यमंत्री रहीं शीला दीक्षित 1984 से 1989 तक कन्नौज से सांसद रह चुकी हैं।

loading...