Breaking News
  • जम्मू-कश्मी: सोपोर में आतंकियों और सुरक्षा बलों के बीच मुठभेड़, कई इलाकों में मोबाइल और इंटरनेट सेवा बंद
  • सपा-बसपा सरकारों के पास गरीबी को हटाने के लिए कोई एजेंडा नहीं था: सीएम योगी
  • सर्जिकल स्ट्राइक के दो साल पूरे होने पर देश मनाएगा पराक्रम पर्व
  • आज सुबह 9:17 बजे असम की बारपेटा में 4.7 तीव्रता से भूकंप के झटके

इस फर्जी पोस्ट ने कांग्रेसी दिग्गज की उड़ाई नींद, 500 से अधिक बार किया गया शेयर!

नई दिल्ली: हाल के दिनों में सोशल मीडिया संचार का सबसे तेज और बेहतर माध्यम की तरह दिख रहा है। जिसकी मदद पूरी दुनिया आपके स्मर्टफोन में सिमट गई है। आप अपने फोन में सोशल मीडिया की मदद से देश और दुनिया में चल रही पल-पल की हचलच का अपडेट ले सकते हैं। लेकिन इसके साथ ही सोशल मीडिया समाज के लिए एक बड़ा खतरा भी दिख रहा है।

दरअसल, सोशल मीडिया पर एक धड़ा ऐसा भी है जो फर्जी खबरों का कारोबार चलाता है। इस में अधिकांश लोगों किसी न किसी राजनीतिक दल या विशेष विचारधारा से प्रभावित है। जो अब उनके लिए ही मुसीबत की तरह दिख रहे हैं। जिसपर अब राजनीतिक दलों के नेता भी खुलकर सामने आ रहे हैं। आप देख सकते हैं को सोशल मीडिया पर कांग्रेस और बीजेपी समेत अन्य दलों के नेताओं को लेकर ऐसे-ऐसे पोस्ट किए जाते हैं, जिनका वास्तविकता से कोई मतलब नहीं होता।

दिल्ली:11 मौत वाले घर से मिला एकमात्र जिंदा चश्मदीद,उसकी भी हालत खराब

ये पोस्ट करने वाले कोई आम जनता नहीं होते बल्कि एक दूसरे के विरोधी दलों से जुड़े या उससे प्रभावित लोगों की होते हैं। दरअसल आज ऐसी बात इसलिए कर रहे हैं क्योंकि कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता और प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने शुक्रवार को सोशल मीडिया के जरिए फैल रही फर्जी खबरों को लेकर केंद्र सरकार और भारत के गृह मंत्री राजनाथ सिंह से खास अपील की है।

उन्होंने कहा कि, फर्जी खबरों से प्रतिष्ठित व्यक्तियों की छवि खराब की जा रही है। सुरजेवाला ने एक ट्वीट के माध्य से कहा कि, मोदी सरकार को इस फर्जी न्यूज फैक्ट्री पर कार्रवाई करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि, भाजपा समर्थकों द्वारा सोशल मीडिया पर झूठ और फोटोशॉप की मदद से फेक खबरें फैलाई जा रही हैं, ये आईपीसी की धारा 153 ए, 295 ए, 500 और 505 (2) का उल्लंघन है।

BJP के लिए क्यों इतना खास हैं श्यामा प्रसाद मुखर्जी, PM मोदी ने पोस्ट किया VIDEO!

आपको बता दें कि सुरजेवाला ने यह बात 'इंडियाफ्लेयर डॉट कॉम' द्वारा उनको लेकर एक फर्जी टिप्पणी के प्रकाशित किए जाने के बाद की है। बताया जाता है कि फर्जी बयान में लिखा गया, ‘मंदसौर दुष्कर्म का दोषी मोहम्मद इरफान को अपराधी नहीं समझा जाए, क्योंकि इस्लाम में किसी और धर्म की महिला के साथ दुष्कर्म करना अपराध नहीं है। उसे रिहा किया जाना चाहिए।

उन्होंने कहा कि यह फर्जी बयान अनुराग तिवारी नाम के एक शख्स ने 'जॉइन एंड सपोर्ट पीएम मोदी 2019' के तहत साझा किया, जिसका अकाउंट फेक लग रहा है क्योंकि इस प्रोफाइल पर कोई गतिविधि नहीं हुई है। इसके साथ ही सुरजेवाला ने यह भी कहा कि इस फर्जी पोस्ट को 500 से अधिक बार शेयर किया गया।

यहां सुनिए- लालू से भी बड़ा कॉमेडियन हैं उनका बड़ा बेटा...

loading...